‘ब्लडमनी’ देकर 15 भारतीयों को फांसी की सजा से बचाया

15 Indians on death row in UAE return after victim’s kin accept ‘blood money’

जालंधर। प्रसिद्ध समाज सेवक एवं सरबत का भला चैरीटेबल संस्था के अध्यक्ष डाॅ एसपी सिंह ओबराए ने खाड़ी देशों में एक भारतीय तथा एक पाकिस्तानी नागरिक की हत्या के आराेप में फांसी की सजा पाए 15 लोगों को आर्थिक सहायता (ब्लडमनी) देकर फांसी की सजा से बचा लिया है।

डॉ ओबराए अब तक लगभग 20 करोड़ रुपए की ब्लडमनी देकर 93 लोगों को फांसी की सजा से बचा चुके हैं। इनमें भारत सहित पाकिस्तान के कैदी भी शामिल हैं। इसके अतिरिक्त वह खाड़ी देशों में मरने वाले लगभग 63 भारतीयों जिनमें पंजाबी भी शामिल हैं, के शवों को अपने खर्च पर भारत भेज चुके हैं। और खाड़ी देशों में सजा पूरी कर चुके लगभग 850 कैदियों को जेलों से छुड़ा कर उनके वतन वापिस भेज चुके हैं।

डॉ. ओबराए ने शुक्रवार को बताया कि खाड़ी देश की जेलों में फांसी की सजा का इंतजार करने वाले 129 लोगों में से 93 लोगों को उन्होंने ब्लडमनी देकर मुक्त करवा लिया है जबकि 45 अन्य उम्र कैद की सजा भुगत रहे हैं। उन्होंने बताया कि फांसी की सजा पाए 36 और युवकों का वह केस लड़ रहे हैं जिनमें 11 पंजाब, एक हरियाणा के कुरूक्षेत्र आपैर तथा दो पाकिस्तान के हैं।