फ्लोरिडा : स्कूल में गोलीबारी में 17 की मौत, पूर्व छात्र अरेस्ट

17 killed in mass shooting at high school parkland, Florida
17 killed in mass shooting at high school parkland, Florida

वाशिंगटन। अमरीका के फ्लोरिडा राज्य में एक 19 वर्षीय पूर्व छात्र द्वारा स्कूल परिसर में की गई गोलीबारी में 17 शिक्षकों व छात्रों की मौत हो गई। हथियारबंद युवक को घटना के एक घंटे के भीतर ही गिरफ्तार कर लिया गया। यह भयावह घटना बुधवार को पार्कलैंड के मार्जरी स्टोनमेन डगलस हाईस्कूल में हुई जिसे पिछले साल फ्लोरिडा का सबसे सुरक्षित शहर चुना गया था।

‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ के अनुसार एआर-15 अर्ध-स्वचालित राइफल से लैस सशस्त्र हमलावर की पहचान स्कूल के ही 19 वर्षीय निष्कासित छात्र निकोलस क्रूज के रूप में हुई है जिसे अनुशासनात्मक कारणों से स्कूल से निकाल दिया गया था।

युवक ने स्कूल की छुट्टी होने के समय अपरान्ह लगभग 2.40 बजे स्कूल के बाहर गोलीबारी शुरू की। फिर वह अंदर घुस गया और छुपने की कोशिश कर रहे भयभीत छात्रों और शिक्षकों पर गोलीबारी की। कक्षाओं में छिपे बच्चों ने अपने फोन के माध्यम से घटना के भयावह दृश्य सोशल मीडिया पर शेयर किए।

17 killed in mass shooting at high school parkland, Florida
17 killed in mass shooting at high school parkland, Florida

ब्रोवार्ड काउंटी शेरिफ स्कॉट इजरायल ने बताया कि क्रूज ने 12 लोगों की स्कूल की इमारत के अंदर और तीन को इमारत के बाहर जान से मारा। इसके अलावा दो घायलों की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई।

छात्रों ने इस भयावह घटना को याद करते हुए बताया कि गोलीबारी शुरू होने के दौरान उनकी अंग्रेजी की कक्षा चल रही थी।

17 साल के एक छात्र रयान कडेल ने कहा कि हमारी एक फायर ड्रिल थी। इसलिए हमें नहीं पता था कि क्या चल रहा है। हम बाहर गए और हमने देखा एक सुरक्षाकर्मी गोल्फ कार्ट से हमारे पास तेजी से आ रहा है और चिल्लाते हुए हमें भागने के लिए कह रहा है।

‘द टाइम्स’ के अनुसार एफबीआई से बात करने के बाद फ्लोरिडा के सीनेटर बिल नेल्सन ने कहा कि बंदूकधारी पूरी तरह से तैयारी कर आया था। उन्होंने कहा कि हमलावर ने गैस मास्क पहना था। उसने धुआं किया और फायर अलॉर्म बजाया ताकि बच्चे कक्षा से बाहर आ सकें।

शेरिफ स्कॉट ने कहा कि उन्हें इस घटना के पीछे का कारण नहीं पता है। इस घटना में एक फुटबॉल प्रशिक्षक की मौत हुई है। 17 मृतकों में से 12 की बुधवार रात तक पहचान हो गई है।

क्रूज का ब्रोवार्ड काउंटी स्कूल के किसी और स्कूल में दाखिला करवा दिया गया था। शेरिफ ने कहा कि अधिकारियों को क्रूज के सोशल मीडिया खातों पर हैरान करने वाली सामग्री मिली है। उसके इंस्टाग्राम खाते पर भी कई बंदूकों की तस्वीरें मिली हैं। तस्वीरों में छह राइफल और हैंडगन बिस्तर पर पड़ी नजर आ रही हैं। इसके अलावा एक तस्वीर में खून से लथपथ एक मेंढक भी नजर आ रहा है।

‘द वाशिंगटन पोस्ट’ के अनुसार क्रूज के गणित के शिक्षक जिम गार्ड जो 2016 में इसी स्कूल में पढ़ाते थे, उन्होंने बताया कि वह काफी चुपचाप रहने वाला छात्र था। गोलीबारी की बाद उन्हें कई छात्रों से पता चला कि उस पर एक लड़की को लेकर जुनून सवार था जिसका वह पीछा भी करता था।

यह गोलीबारी की घटना आधुनिक अमरीका के इतिहास की 10 सबसे घातक सामूहिक गोलीबारी की घटनाओं में से एक है जिसने विभिन्न अमरीकी नेताओं के बीच घटना पर दुख जताते हुए एक बार फिर बंदूक नियंत्रण पर बहस छेड़ दी है।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस घटना पर दुख जताते हुए कहा कि फ्लोरिडा में गोलीबारी की भयावह घटना के पीड़ितों व उनके परिवारों के लिए मेरी संवेदनाएं हैं। किसी भी अमरीकी स्कूल में कभी किसी बच्चे, शिक्षक या किसी और को असुरक्षित महसूस नहीं करना चाहिए।