गाजियाबाद : मुरादनगर में श्मशान घाट की छत ढही, 23 की मौत, 20 घायल

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद के मुरादनगर में रविवार को श्मशान घाट परिसर की छत गिरने से 23 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।

जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि आज तड़के से हो रही तेज बारिश के कारण मुरादनगर में बंबामार्ग पर स्थित श्मशान घाट परिसर की छत और दीवार गिर गई। घटना के समय श्मशान घाट पर अंत्येष्टि हो रही थी और इस दौरान वहां एकत्र 40 से अधिक लोग मलबे में दब गए। उन्होंने बताया कि इस घटना में 23 लोगों की मौत हो गई है और कई अन्य लोग घायल हो गए।

पुलिस सूत्रों ने अनुसार नगर पालिका से अजय त्यागी नामक ठेकेदार को इस निर्माण का ठेका चार फरवरी 2020 को मिला था लेकिन लॉकडाउन के कारण कार्य शुरू नहीं हो पाया था। इस कार्य को अभी दो माह पहले ही पूर्ण किया गया था जो कि आज सुबह से हो रही बारिश के कारण ढह गया।

राहत एवं बचाव कार्य जारी है। मलबे से कई लोगों को निकाला गया है। दमकल विभाग और एनडीआरएफ की टीम राहत एवं बचाव कार्य में जुटी हुई है।

पुलिस ने बताया कि हादसे में मारे गए लोगों की पहचान जयवीर (50), सुधाकर चौधरी (46), सुरेश जुनेजा (60), सुनील कुमार, अक्षय (22) विनोद कुमार (50), सुनील (35), दलीप बत्रा (62), ओमप्रकाश (60), विजय सोनी (23) दिग्विजय सोनी, प्रमोद कुमार (35), नीतिन (40), राजीव(40), रोबिन (35), नेपाल (54), दिनेश, अरविंद (35), सतीश (50), बंटी, जोगेन्द्र, ओमकार और एक मृतक का अज्ञात के रूप में हुई है।

इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। आदित्यनाथ ने मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपए की अर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। उन्होंने इस घटना के संबंध में मेरठ के मण्डलायुक्त एवं एडीजी, मेरठ जोन को रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए हैं।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हादसे में अनेक लोगों की मृत्यु पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने दिवंगत आत्माओं की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है।