जयपुर में कोरोना से डरे लोगों ने बाहर निकलने का दिखाया साहस

जयपुर। राजस्थान के जयपुर में ढाई माह से कोरोना के डर से घर में दुबके हुए लोगों ने आज खुली हवा में सांस लेने का साहस दिखाया। लोगों में आज भी डर बना हुआ था लेकिन लोगों ने हिम्मत दिखाते हुए अपने कामकाज निपटाए।

जयपुर में 24 स्थानों पर कर्फ्यू लगा हुआ है जिनमें ज्यादातर स्थान चार दीवारी के भीतर हैं। यही कारण है कि बड़े बाजारों को आज खोल दिया गया लेकिन उनसे निकलने वाली गलियों में प्रतिबंध पहले की तरह लागू रहा।

शहर के नामी बाजारों में जौहरी बाजार, किशनपोल बाजार, चौड़ा रास्ता, बापू बाजार में लोगों की रेलमपेल रही तथा लोग दूरिया बनाने के नियमों का उल्लघंन करते देखे गए। कुछ दुकानों पर भी ग्राहक आये लेकिन खरीददारी बहुत कम हुई। ऑटो रिक्शा एवं अन्य यातायात के साधनों पर रोक होने से इन बाजारों का रुख जरुरतमंद लोगों ने ही किया।

शहर में अभी मिनीबस पर भी रोक है इसके अलावा सिनेमा हॉल, मॉल, स्कूले, कालेज एवं होटलों पर रोक लगी हुई है। पुरातत्व महत्व के स्थलों को भी खोलने की शुरुआत हुई। पहले सप्ताह नौ बजे से दोपहर दो बजे तक तथा दूसरे सप्ताह में नौ से एक बजे तथा तीन से पांच बजे तक खोलने के आदेश दिए गए हैं। इन स्थलों पर पर्यटकों से 31 अक्टूबर तक आधा ही प्रवेश शुल्क लिया जाएगा।

रणथंभौर एवं सरिस्का नेशनल पार्क को भी खोला गया है। सरिस्का में वन्यजीवों की गणना शुरु की गई हैं। जयपुर रेलवे स्टेशन से आज जोधपुर के लिए सुबह रेल सेवा भी शुरु हुई, जिसमें 217 यात्री गए। इनके चेहरों पर खुशी झलक रही थी।