यमन में हाउथी विद्राेहियों के हमले में 22 सैनिकों की मौत, 50 घायल

काहिरा। यमन के दक्षिणी हिस्से में स्थित एक हवाई अड्डे पर रविवार को हाउथी के नाम से जाने जाने वाले अंसार अल्लाह समूह के विद्रोहियोें की गोलीबारी में कम से कम 22 यमनी सैनिक मारे गए और 50 अन्य घायल हो गए।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि एक मानवरहित हवाई वाहन का उपयोग करके अल अनाद हवाई प्रशिक्षण बेस पर एक तोपखाने के जरिये किए हमले में मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हो गई और 50 अन्य घायल हो गए। गंभीर रूप से घायलों को अदन ले जाया जा रहा है।

हाउथी विद्रोहियों ने इस घटना पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं व्यक्त की है। अल अनाद एयर बेस यमन में सबसे बड़ा है। वर्ष 2019 की शुरुआत में, अंसार अल्लाह समूह ने सैन्य परेड के बीच विस्फोटकों के साथ ड्रोन का उपयोग करके बेस पर हमला किया था।

गौरतलब है कि यमन की सैन्य सरकार को सउदी अरब का सहयोग प्राप्त है और वह पिछले सात वर्षों से ईरानी समर्थक हाउथी विद्रोहियों से लड़ रही है। इस साल, विद्रोहियों ने कई प्रांतों पर आक्रामक हमला किया, जो रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण हैं और सरकार द्वारा नियंत्रित हैं, जिसमें मारिब प्रांत भी शामिल है। संयुक्त राष्ट्र ने यमन की स्थिति को ‘दुनिया का सबसे खराब मानवीय संकट’ बताया, क्योंकि दो करोड़ से अधिक लोगों को सुरक्षा या मानवीय सहायता की आवश्यकता है।