T-20 : ड्युम्नी, क्लासेन की क्लास बल्लेबाजी से जीता द. अफ्रीका

2nd T20I at Centurion : India vs South Africa
2nd T20I at Centurion : India vs South Africa

सेंचुरियन। कप्तान जीन पॉल ड्युम्नी (नाबाद 64) और मैन ऑफ द मैच रहे हेनरिक क्लासेन (69) की शानदार बल्लेबाजी के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने बुधवार को खेले गए दूसरे टी-20 मैच में भारत को छह विकेट से हरा दिया।

सुपरस्पोर्ट पार्क में खेले गए इस मैच में जीत हासिल करने के साथ ही दक्षिण अफ्रीका ने तीन टी-20 मैचों की सीरीज को 1-1 से बराबर कर दिया है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 189 रनों का लक्ष्य दिया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका के लिए जेजे स्मट्स (2) और सलामी बल्लेबाज रीजा हैंड्रिक्स (26) ने 24 रन ही जोड़े थे कि जयदेव उनादकट ने स्मट्स को सुरेश रैना के हाथों कैच आउट करवाकर पवेलियन का रास्ता दिखाया।

मेजबान टीम इसके बाद 14 रन ही जोड़ पाई थी कि जसप्रीत बुमराह के स्थान पर टीम में शामिल हुए शार्दुल ठाकुर ने हैंड्रिक्स को पवेलियन का रास्ता दिखाया।

पिछले टी-20 मैच में दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले हैंड्रिक्स लंबा शॉट मारने के कोशिश में बाउंड्री के पास खड़े हार्दिक पांड्या के हाथों लपके गए।

इसके बाद हेनरिक क्लासेन और ड्युम्नी ने टीम की पारी को संभाला। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 93 रनों की शानदार साझेदारी कर टीम को 131 के स्कोर तक पहुंचाया।

इस बीच, 12वें ओवर की दूसरी गेंद पर चौका जड़ने के साथ ही क्लासेन ने अपने टी-20 करियर का पहला अर्धशतक पूरा किया।

उनादकट ने ही भारतीय टीम के लिए सबसे बड़ी परेशानी बनकर खड़े रहे क्लासेन को पवेलियन भेजा। क्लासेन विकेट के पीछे खड़े धोनी के हाथों लपके गए। उन्होंने 30 गेंदों का सामना करते हुए तीन चौके और सात छक्के लगाए।

दक्षिण अफ्रीका अब भी अपने लक्ष्य से दूर थी। उसे 41 गेंदों में 58 रन बनाने थे। यहां क्लासेन के आउट होने के बाद ड्युम्नी का साथ देने आए डेविड मिलर (5) लय हासिल नहीं कर पा रहे थे और इसी कोशिश में वह हार्दिक पांड्या की गेंद पर ठाकुर को कैच थमा बैठे।

मिलर के रूप में मेजबान टीम अपना चौथा विकेट गंवा चुकी थी। एक छोर पर टीम की पारी संभाले खड़े ड्युम्नी हर प्रकार से कोशिश कर रहे थे।

ड्युम्नी ने इसके बाद फरहान बेहरादीन (16) के साथ टीम की पारी को बढ़ाया। 18वां ओवर पूरा होने के साथ ही कप्तान ड्युम्नी ने टी-20 करियर का 10वां अर्धशतक भी पूरा किया।

बेहरादीन के साथ ड्युम्नी ने 48 रनों की साझेदारी कर 189 रनों का लक्ष्य पूरा करते हुए टीम को भारत के खिलाफ छह विकेट से जीत दिलाई। ड्युम्नी ने 40 गेंदों का सामना कर चार चौके और तीन छक्के जड़े।

इस पारी में भारत के लिए उनादकट ने सबसे अधिक दो विकेट लिए, वहीं ठाकुर और पांड्या को एक-एक सफलता मिली।

इससे पहले, टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने मनीष पांडे (नाबाद 79) और महेंद्र सिंह धौनी (नाबाद 52) की अर्धशतकीय पारियों के दम पर निर्धारित 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 188 रन बनाए।

मेहमान टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को जूनियर डाला ने खाता खोलने का मौका भी नहीं दिया और पगबाधा आउट किया।

इसके बाद, सुरेश रैना (30) ने शिखर धवन (24) के साथ 44 रनों की साझेदारी की, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के कप्तान जीन पॉल ड्युम्नी ने इस साझेदारी को जमने नहीं दिया। ड्युम्नी की गेंद पर लंबा शॉट मारने की कोशिश में धवन फरहान बेहरादीन के हाथों लपके गए।

धवन के आउट होने के बाद रैना का साथ देने आए कप्तान विराट कोहली (1) भी डाला की गेंद से बच नहीं पाए। वह विकेट के पीछे खड़े हेनरिक क्लासेन को कैच थमा बैठे।

भारतीय टीम ने 45 के स्कोर पर अपने तीन विकेट गंवा दिए थे। ऐसे में पांडे उम्मीद की किरण बनकर मैदान पर उतरे। उन्होंने मंझी हुई बल्लेबाजी के दम पर रैना के साथ चौथे विकेट के लिए 45 रनों की साझेदारी की और टीम को 90 के स्कोर तक पहुंचाया।

हालांकि, यहां अपनी लय तलाश रहे रैना को अंदिले फेहुलकवायो ने 90 के स्कोर पर ही पगबाधा आउट कर भारत का चौथा विकेट भी गिरा दिया। पांडे ने इस बीच, 15वें ओवर की आखिरी गेंद पर एक रन लेने के साथ ही अपने टी-20 करियर का दूसरा अर्धशतक लगाया।

पांडे ने इसके बाद धौनी के साथ यहां से टीम की पारी को संभाला 98 रनों की शानदार साझेदारी कर निर्धारित 20 ओवरों में टीम का स्कोर 188 तक पहुंचाया। इसके साथ ही भारतीय टीम की पारी समाप्त हो गई। धौनी और पांडे नाबाद रहे।

इस पारी में पांडे ने 48 गेंदों में छह चौके और तीन छक्के लगाए, वहीं धौनी ने भी अपने टी-20 करियर दूसरा अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने 28 गेंदों में चार चौके और तीन छक्के लगाए।

इस पारी में दक्षिण अफ्रीका के लिए जूनियर डाला ने दो विकेट लिए, वहीं ड्युम्नी और फेहुलकवायो को एक-एक सफलता मिली। दोनों टीमों के बीच सीरीज का तीसरा और निर्णायक मैच कैपटाउन में 24 फरवरी को खेला जाएगा।