बुलंदशहर में ट्रिपल तलाक पीड़िता की 7 साल की बेटी की गला रेतकर हत्या

बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर जिले के अगौता क्षेत्र में तीन तलाक पीड़िता की सात वर्षीय बेटी की गला रेत कर निर्मम हत्या कर दी, इस मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया है।

पुलिस अधीक्षक (अपराध) सुरेंद्र नाथ तिवारी ने आज बताया कि अगौता क्षेत्र के ग्राम चोली में शबनम को उसके पति ने तीन तलाक देकर छोड़ दिया था। शबनम अपनी सात वर्षीय बेटी के साथ रहती है। कल वह बेटी को घर छोड़कर दरवाजे का ताला लगा कर किसी काम से बाहर गई थी। उन्होंने बताया कि शाम लगभग साढ़े पांच बजे जब वह घर वापस लौटी तो बेटी का लहूलुहान शव पड़ा मिला। उसकी हत्या गला रेतकर की गई।

उन्होंने बताया कि सूचना पर वह सीओ सिटी शशांक सिंह के साथ पहुंचे। उन्होंने बताया कि शबनम का निकाह आठ फरवरी 2010 को अलीगढ़ निवासी मुजम्मिल से हुआ था। वर्ष 2014 में शबनम को पति ने तलाक दे दिया था।

उसके विरोध में सात मई 2018 को शबनम ने उच्चम न्यायालय में याचिका दायर की थी। करीब दो वर्ष पहले शबनम ने गांव के ही दो लोगों पर तेजाब से हमला करने का आरोप लगाया था। तेजाब के हमले में शबनम और उसका पुत्र अजमल झुलस गए थे।

तिवारी ने बताया कि मकान की दीवार करीब 6 फुट ऊंची है तथा घर का दरवाजा यथावत पूर्व की भांति लगा था, जिससे प्रतीत होता है कि हत्यारा दीवार फांद कर घर के अंदर घुसा और बच्ची की हत्या के फरार हो गया।

दरवाजा बंद होने के कारण किसी को वारदात का पता भी नहीं चला। इस सिलसिले में दो लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।