कभी देखी है 84 साल के दूल्हे और 83 साल की दुल्हन की शादी

बीकानेर। यूं तो शादी ब्याह को लेकर कई बार अजब और गजब तरीके के मामले सामने आते रहते हैं, लेकिन राजस्थान के बीकानेर में बूढा और बूढी ने सात फेरे लेकर प्रेम की नई इबारत लिख डाली। चेतन गहलोत (84) और कमला देवी ने (83) के इस ब्याह की चर्चा हर जुबां पर हो रही है।

जानकारी के अनुसार अपनी शादी की 75वीं सालगिरह पर इस जोडे की निकली बारात को देखने के लिए गुरुवार सडक पर जाम सा लग गया। जगह-जगह स्वागत का अनवरत सिलसिला चलता रहा।

ऐसा माना जा रहा है कि राजस्थान में पहली ‘री-मैरिज’ है। क्योंकि इसके अलावा ऐसा कोई और वाकया सार्वजनिक तौर पर नहीं देखा गया है। मीउिया रिपोर्टों की माने तो चेतन गहलोत ने यह दुबारा ब्याह इसलिए किया क्योंकि जब वे नौ साल के थे तब हुई शादी के यादगार पल उन्हें याद नहीं।

अपने बच्चों और पोतों के शादी के एलबम देखते तो अपनी शादी के पलों को स्मृति पटल पर महसूस नहीं कर पाते थे। 75 साल पहले हुई शादी की यादों को फिर से ताजा करने के लिए उन्होंनें परंपरागत रूप से विवाह करने का निर्णय लिया।

मैरिज प्रोग्राम के तहत प्री-वेडिंग, मेहंदी, सात फेरे जैसी हर रस्म हुई। गुरुवार को चेतन गहलोत ने कमला देवी को वरमाला पहनाई। हर तरफ शादी के गानों की गूंज सुनाई देने लगी। अपनी शादी का एलबम बनाने की ख्वाहिश इस तरह पूरी हुई।