सोनिया, मनमोहन और राहुल की तारीफ कर नवजोत सिद्धू ने बांधा समां

84th Congress plenary session
84th Congress plenary session: Manmohan Singh’s silence has done what BJP’s uproar failed to do, says Navjot Sidhu

नई दिल्ली। कांग्रेस के 84वें महाधिवेशन के समापन से पहले पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने अपने ही अंदाज में कार्यकर्ताओं का मनोरंजन किया और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि डॉ सिंह ने मौन रहकर जो काम किया है शोर मचाने वाले वह सोच नहीं सकते।

सिद्धू ने कहा कि डॉ सिंह ने मौन रहकर जो काम किए वह शोर मचाकर और खुद का प्रचार कर नहीं किए जा सकते। उन्होंने कहा कि मैं आदर के साथ कहता हूं डॉ सिंह सरदार हैं और बेहद असरदार हैं। मौन वही रहते हें जिनका काम बोलता है। उनके यह कहते ही पूरा स्टेडियम तालियों से गूंज उठा।

ठहाकों से गूंज रहे सभागार में सबसे आगे की सीट पर बैठी सोनिया गांधी ने अपने बगल में बैठे डॉ मनमोहन सिंह से इस पर कुछ कहना चाहा लेकिन डॉ सिंह ने उनकी बात का जवाब हल्की मुस्कान के साथ दिया।

पूर्व ​क्रिकेटर ने सोनिया गांधी की तुलना अपनी मां से की और कहा कि उनके नेतृत्व में कांग्रेस ने असाधारण मजबूती और ऊंचाई हासिल की है। उन्होंने ​​प्रियंका गांधी वाड्रा की भी तारीफ की और कहा​ कि उनसे मिलने के बाद उन्हें भरोसा हो गया था कि कांग्रेस देश का भविष्य तय करती रहेगी।

कार्यकर्ताओं को पार्टी की सबसे बडी ताकत बताते हुए उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता ही पार्टी के ब्रांड हैं और वही कांग्रेस की आन बान शान हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी की वापसी की उम्मीद व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि उनका संकल्प है कि जब तक राहुल गांधी को लालकिला पर तिरंगा फहराते नहीं देखेंगे वह चुप नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा कि यह मेरा प्रण है और यही मेरी सौगंध है।