आप विधायक अलका लांबा 2020 में पार्टी छोड़ देंगी

नई दिल्ली। चांदनी चौक से आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने रविवार को कहा कि अगले वर्ष अपना कार्यकाल समाप्त होते ही पार्टी को अलविदा कह देंगी।

लांबा ने ट्वीट करके कहा कि मेरी 2013 में जो यात्रा पार्टी के साथ शुरू हुई थी वह 2020 में समाप्त हो जाएगी। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पार्टी राष्ट्रीय राजधानी में एक मजबूत विकल्प है। लांबा ने हालांकि यह नहीं कहा कि वह विधानसभा चुनावों से पहले अथवा बाद में पार्टी को अलविदा कहेंगी।

उन्होेंने यह भी कहा कि जब ‘आप’ सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल से लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के बारे में सवाल पूछा गया जो पार्टी विधायकों ने उन्हें अपने व्हाट्स ग्रुप से हटा दिया।
उन्होंने एक स्क्रीन शाॅट भी साझा किया है जिसमें देखा जा सकता है कि ‘आप’ विधायकों के समूह से उन्हें उत्तर पूर्वी दिल्ली से पार्टी के उम्मीदवार दिलीप पांडेय ने हटाया है।

लांबा ने कहा कि यह दिलीप पांडेय की गलती नहीं है क्योंंकि उन्हें मुझे इस समूह से हटाने को कहा गया था। वह एक अच्छे इंसान है और एक ईमानदार तथा परिश्रमी कार्यकर्ता भी हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह लोकसभा चुनाव में उनकी हार से दुखी है और दिल से उनकी इज्जत करती हैं।