‘थक’ गए एबी डीविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

AB de Villiers quits international cricket, tired and running out of gas
AB de Villiers quits international cricket, tired and running out of gas

नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका के 360 डिग्री बल्लेबाज कहे जाने वाले एबी डीविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अचानक ही संन्यास लेने की घोषणा कर सबको चौंका दिया है और इसके पीछे उन्होंने खुद के थके होने का कारण बताया है।

डीविलियर्स आईपीएल-11 में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू टीम का हिस्सा थे और बेंगलुरू टीम के प्लेऑफ की होड़ से बाहर हो जाने के चार दिन बाद ही 34 वर्षीय डीविलियर्स ने एक वीडियो संदेश के जरिये अपने संन्यास की घोषणा कर दी।

डीविलियर्स ने बुधवार को कहा कि मै बहुत थक गया हूं। मैंने तत्काल प्रभाव से सभी तरह की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया है। 114 टेस्ट, 228 वनडे और 78 ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बाद मेरे लिये संन्यास लेने का समय आ गया है ताकि दूसरे खिलाड़ी आगे आ सकें। ईमानदारी से कहूं तो मैं बहुत थक गया हूं।

दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज़ों में शुमार डीविलियर्स ने कहा कि यह एक मुश्किल फैसला था। मैंने इसके बारे में लंबा विचार विमर्श किया और मैं चाहता था कि मैं चोटी पर रहते हुए ही खेल से संन्यास लूं। भारत और आस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार सीरीज जीत के बाद मैं अब महसूस करने लगा था कि मुझे संन्यास ले लेना चाहिए।

डीविलियर्स ने कहा कि मेरे लिए यह करना मुश्किल होगा कि मैं अपने देश की टीम के लिए प्रारूप अपने हिसाब से चुनूं। या तो मेरे लिए सबकुछ होगा या कुछ नहीं होगा। मैं क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के कोचों और स्टाफ का शुक्रगुजार हूं जिन्होंने इतने वर्षाें तक मुझे समर्थन दिया। मेरे लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण शुक्रिया अपने टीम साथियों का रहेगा जिनके लिए मैं अपने करियर में खेला। उनके सहयोग के बिना मैं इस स्तर तक नहीं पहुंच पाता।

अपने संन्यास को लेकर खुलासा करते हुए डीविलियर्स ने कहा कि यह इस बात को लेकर नहीं है कि मैं कहीं और कमाई करूंगा। मुझे लगता है कि मेरी ऊर्जा खेल के लिए समाप्त हो चुकी है और मेरे लिए संन्यास लेने का यह सही समय है। हर चीज का अंत होता है। मैं दक्षिण अफ्रीका और दुनियाभर में क्रिकेट प्रशंसकों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।

डीविलियर्स ने साथ ही कहा कि मेरी विदेशों में खेलने की कोई योजना नहीं है। मैं उम्मीद करता हूं कि मैं घरेलू क्रिकेट में टाइटंस के लिए उपलब्ध रहूंगा। मैं फाफ डू प्लेसिस और दक्षिण अफ्रीका का सबसे बड़ा समर्थक रहूंगा।

34 वर्षीय अब्राहम बेंजामिन डीविलियर्स ने अपने शानदार करियर में 114 टेस्ट मैचों में 50.66 के औसत से 8765 रन बनाए जिनमें 22 शतक और 46 अर्धशतक शामिल है। डीविलियर्स को मौजूदा समय में भारत के विराट कोहली अौर न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन के साथ सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज माना जाता है। उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 278 रन रहा।

डीविलियर्स बल्लेबाज होने के साथ साथ एक शानदार विकेटकीपर भी रहे जिन्होंने टेस्ट मैचों में 222 कैच लपके और पांच स्टम्प किए। उन्होंने 228 वनडे में 53.50 के शानदार औसत से 9577 रन बनाए जिनमें 25 शतक अौर 53 अर्धशतक शामिल है। उन्होंने विकेट के पीछे 176 कैच लपके और पांच स्टम्पिंग की।

ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में डीविलियर्स ने 78 मुकाबलों में 1672 रन बनाने के अलावा विकेट के पीछे 65 कैच और सात स्टम्प किए। डीविलियर्स ने अपना टेस्ट करियर 17 दिसंबर 2004 को पोर्ट एलिजाबेथ में इंग्लैंड के खिलाफ, वनडे करियर दो फरवरी 2005 को ब्लूमफोंटेन में इंग्लैंड के खिलाफ और ट्वंटी 20 करियर 24 फरवरी 2006 को जोहानसबर्ग में आस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू किया था।