भादरवा फली में आग से घरेलू सामान खाक, जोड़ियां फली में बैटरी विस्फोट

आबूरोड(सिरोही)। सिरोही जिले की आबूरोड तहसील के आदिवासी बहुल निचलागढ़ गांव के वार्ड संख्या 2 व 5 में एक ही दिन बुधवार अपराहन आग लगने की दो घटनाओं से आशियाने उजड गए। भादरवा फली में खाद्यान्न सहित घरेलू सामान खाक हो गया वहीं जोड़ियां फली में बैटरी विस्फोट से आसपास के परखच्चे उड जाने के बावजूद ईश्वर कृपा से पास ही झूले में सो रहा मासूम बाल-बाल बच गया।

निचलागढ के वार्ड नंबर 2 की भादरवा फली स्थित ताराराम पुत्र भेराराम गरासिया के घर में बुधवार 5 बजे के आसपास घर में मक्का की फसल के छिलकों में अचानक चूल्हे की चिंगारी गिरने से आग लग गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया और पूरा घर धधक उठा।

आग की लपटों को देखकर आसपास के लोग दौड़ पड़े लेकिन बेकाबू आग पर काबू नहीं पाया जा सका। इसी घर की दूसरी आगजनी की घटना में खाद्यान्न, बिस्तर, बर्तन, जेवरात व अन्य दस्तावेज राख में तब्दील हो गए। घटना की जानकारी पर ग्राम पंचायत सरपंच प्रतिनिधि शरीफा राम सोलंकी व मीणाछापर के सामाजिक कार्यकर्ता भगाराम, सोलंकी फली के बसूरा राम आदि पहुंचे तथा प्रभावित को नियमानुसार सहायता दिलाने का विश्वास दिलाया। इस घर में आगजनी का दूसरा हादसा है, इससे पूर्व भी आगजनी की घटना हुई थी।

इसी प्रकार वार्ड संख्या 5 की जोड़ियां फली में बिजली से वंचित परथा राम पुत्र सवाराम के घर में उजाले के लिए रखी सोलर बैटरी में अचानक विस्फोट होने से आग लग गई। धमाके की आवाज सुनकर आसपास के लोग भी दौड़ पड़े। गनीमत रही कि बैटरी से कुछ दूरी पर झूले में सो रहे मासूम बच्चे को मां ने अपने आंचल में ले लिया। गत वर्ष इसी जोड़ियां फली में जगाराम पुत्र सोनाराम के घर में भी बैटरी विस्फोट से आगजनी की घटना घटित हुई थी, जिसमें संपूर्ण खाद्यान्न व अन्य तबाही हुई थी।