पेड़ को करोगे नष्ट तो सांस लेने में होगा कष्ट

आबूरोड(सिरोही)। सिरोही जिले के आबूरोड तहसील के किवरली ग्राम पंचायत के बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय परिसर में शुक्रवार को ब्लॉक स्तरीय सघन वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन आबूरोड उपखंड अधिकारी, पंचायत समिति प्रधान, पंचायत समिति विकास अधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित हुआ।

कार्यक्रम में आबूरोड उपखंड अधिकारी अरविंद शर्मा ने ग्रामीणों, विद्यार्थियों, वृक्ष प्रेमियों को संबोधित करते हुए कहा कि वृक्ष हमारे जीवन की अमूल्य धरोहर होते हैं। वृक्षों के संरक्षण में बरती गई लापरवाही का परिणाम ग्लोबल वार्मिंग के रूप में देखा जा रहा है। यदि हम इन्हें नष्ट करेंगे तो मानव जीवन को प्राणवायु ग्रहण करने में होगा कष्ट।

इस मौके पर पंचायत समिति प्रधान लीलाराम गरासिया ने सूखी धरती करे पुकार मत लो तुम वृक्षों की जान से अपनी बात रखते हुए कहा कि वृक्ष हमारे जीवन के आधार हैं। अधिकाधिक वृक्षारोपण कर हम मानव जीवन के उपकार में भागीदार बन सकते हैं।

पंचायत समिति विकास अधिकारी नवलाराम ने पौधा जब तक पेड़ नहीं बने तब तक देखभाल करने के संकल्प पर प्रकाश डाला। पंचायत समिति के उपप्रधान ललित सांखला ने प्रकृति से सदैव जुड़े रहकर पर्यावरण संतुलन के पक्ष में हरसंभव भागीदारी निभाने का आह्वान किया।

पौधे-संरक्षण के ली शपथ

पौधरोपण कार्यक्रम में गांव के प्रत्येक ग्रामीण, विद्यार्थियों, वृक्ष प्रेमियों ने अपने गांव को पर्यावरण की मिसाल बनाने के लिए 5-5 पौधे संरक्षण की शपथ ली तथा कार्यक्रम में गांव के विभिन्न शिक्षण संस्थानों व अन्य परिसरों में लगभग 100 पौधे रोपे गए। बालिका विद्यालय में बेहतर वृक्षारोपण के रखरखाव को लेकर शिक्षक शिवलाल बारोट एवं विद्यालय कार्मिकों की सराहना की गई।

कार्यक्रम में रेंजर हरचंद राम, जलदाय सहायक अभियंता हेमंत गोयल, जिला परिषद सदस्य कन्हैयालाल खरे, पंचायत समिति सदस्य प्रतिनिधि नारायण सिंह सोलंकी, सरपंच रमेश मीणा, उपसरपंच केसर सिंह देवड़ा, पीईईओ विद्यालय के उत्तम सिंह देवड़ा, स्थानीय बालिका विद्यालय के कार्यवाहक संस्था प्रधान शिवलाल बारोट, शारीरिक शिक्षिका कविता वर्मा, स्कूल शिक्षा के मांगीलाल, पंचायत ग्राम विकास अधिकारी ऋषि सैनी, पंचायत सहायक शंकर लाल पुरोहित, पर्यावरण मित्र ईश्वर सिंह देवड़ा, राधेश्याम पुरोहित, जोराराम, पुष्पेंद्र कंवर, प्रकाश कंवर व अधिक संख्या में ग्रामीणजन व विद्यार्थी उपस्थित रहे।