अणुव्रत दिवस के रूप में मनाया आचार्य तुलसी का 105वां जन्मदिवस

अजमेर। अणुव्रत अनुशास्ता आचार्य तुलसी का 105वां जन्म दिवस तेरापंथ भवन में शुक्रवार को अणुव्रत दिवस के रूप में मनाया गया।

अणुव्रत समिति अजमेर की ओर से आयोजित कार्यक्रम में जैन धर्मावलंबियों को साध्वी जिनबाला का सान्निध्य मिला। मंगलाचरण रेखा पोरवाड ने किया। साध्वी करुणा प्रभा ने कहा कि आचार्य तुलसी का जन्म कार्तिक शुक्ला दूज को हुआ, वे बचपन से ही बहुत सत्यनिष्ठ थे।

साध्वी भव्य प्रभा ने बताया कि आचार्य तुलसी आगम के ज्ञाता, भाग्यविधाता व संगीत के ज्ञाता थे। शासन साध्वी लाभवति ने तुलसी प्राणाधार गीतिका का संगान किया। साध्वी जिनबाला ने कहा कि आचार्य तुलसी ने अणुव्रत, प्रेक्षाध्यान, जीवन विज्ञान, आगम संपादन, पारमार्थिक शिक्षण संस्था, श्रमण श्रेणी, रुढीवाद पर प्रहार आदि अनेक अवदान दिए।

इस अवसर पर कन्या मंडल व ज्ञान शाला के 30 बच्चों ने तुलसी आयाम परेड निकाली। महिला मंडल की ओर से आचार्य तुलसी पर आधारित शब्द चित्र प्रस्तुत किया गया। तेरापंथ सभा के अध्यक्ष ओम छाजेड ने विचार व्यक्त किए। आभार ज्ञिानपन समिति के संगठन मंत्री महावीर जैन ने किया। कार्यक्रम का संचालन मोनिका लोढा ने किया।