प्रवासी मजदूरों की मदद के अनुभव पर किताब लिखेंगे सोनू सूद

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद कोरोना वायरस महामारी में प्रवासी मजदूरों की मदद करने के अपने अनुभव पर किताब लिखने जा रहे हैं।

सोनू सूद कोरोना काल में लगातार प्रवासी मजदूरों की मदद कर रहे हैं। सोनू कोरोना काल के अनुभवों पर एक किताब लिखने जा रहे हैं। सोनू सूद इस किताब को पेंगुइन प्रकाशित करने वाला है।

सोनू सूद ने कहा कि मैं भगवान का शुक्रगुजार हूं कि उसने मुझे इन लोगों की मदद करने का जरिया बनाया। मेरा दिल यूं तो मुंबई के लिए धड़कता है लेकिन इस मूवमेंट के बाद मुझे ऐसा लगता है कि मेरी जिंदगी का कुछ हिस्सा यूपी, बिहार, झारखंड, असम, उत्तराखंड और ऐसे ही कई राज्यों में भी बस गया है जहां मैंने नए दोस्त बनाए हैं।

मैं वादा करता हूं कि मैं तब तक काम करता रहूंगा, जब तक आखिरी माइग्रेंट्स अपने घर और प्रियजनों के पास नहीं पहुंच जाता। अभिनेता ने कहा कि मैंने अपने अनुभवों और कहानियों को एक किताब की शक्ल देने का फैसला किया है। ये अनुभव मेरी आत्मा में रच-बस से गए हैं।

मैं काफी उत्साहित हूं और नर्वस भी हूं और इस किताब के सहारे आप सभी लोगों के साथ कनेक्ट करना चाहता हूं। मैं उम्मीद करूंगा कि मुझे इस किताब के सहारे आप लोगों का सपोर्ट मिलेगा।