वसुन्धरा राजे ने चिकित्सा, खनन, कृषि एवं पशुपालन व कानून से संबंधित कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की

जयपुर । राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने आज आम नागरिकों की मांग पर राजकीय लवण स्त्रोत बापी डीडवाना , अनुबंधित एवं अंत्योदय क्यारों से रायल्टी राशि नही लेने सहित कई घोषणाएं की।

राजे ने अपने प्रवास के दौरान स्थानीय लोगों, जनप्रतिनिधियों एवं जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में सामने आई क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं एवं मुद्दों का त्वरित समाधान करते हुए चिकित्सा, खनन, कृषि एवं पशुपालन व कानून व्यवस्था से संबंधित कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद राजकीय उपक्रम विभाग की ओर से इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिए गए। इससे

क्रूड सोडियम सल्फेट के व्यापार से जुड़े लोगों व छोटे-छोटे व्यापारियों को फायदा
क्रूड सोडियम सल्फेट के व्यापार से जुड़े लोगों व छोटे-छोटे व्यापारियों को फायदा

के व्यापार से जुड़े लोगों व छोटे-छोटे व्यापारियों को फायदा होगा।

राजे ने जिला अस्पताल में बैड्स की क्षमता 250 से बडाकर 300 करने ,जिला अस्पताल में एक शल्य विशेषज्ञ की नियुक्ति करने , नागौर जिले में रिक्त पडे तीन विकास अधिकारियों के पद को भरने के अलावा एसीएम नागौर की भी नियुक्ति की स्वीकृति दी। उन्होंने किसानों की समस्या का निराकरण करते हुए जिले में करीब 16 हजार लंबित कृषि कनेक्शन सितम्बर 2018 तक जारी करने के निर्देश दिए । इसके अलावा उन्होंने जिले के पशुपालकों को भरोसा दिलाया कि ऊंट व बैल उनके जीविकोपार्जन का प्रभावी जरिया बनाया जायेगा । साथ ही पशु मेलों को पुनः अपने वास्तविक रूप में लाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पशुओं के परिवहन में आने वाली समस्याओं के समाधान के लिए केन्द्र सरकार से आग्रह किया गया है, जल्द ही इस समस्या का समाधान हो जाएगा।