ई-संजीवनी मोबाईल एप के जरिए निःशुल्क घर बैठे मरीजों को सलाह

अजमेर। चिकित्सा विभाग टेलिपेथी के माध्यम से घर बैठे निःशुल्क विशेषज्ञ चिकित्सकों की सलाह मरीजों को उपलब्ध करवा रहा है। इसके लिए ई-संजीवनी मोबाईल एप का उपयोग करना होगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केके सोनी ने बताया कि आमजन को घर बैठे निःशुल्क चिकित्सा परामर्श (टेलीकंसल्टेसन) प्रदान करने के लिए सरकार ने ई-संजीवनी मोबाईल एप संचालित किया जा रहा है। कोरोना काल में यह एक वरदान साबित हो रहा है। यह चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ऑनलाइन ओपीडी सेवा है। इसमें मरीज घर बैठे डॉक्टर से निःशुल्क परामर्श ले सकते है।

उन्होंने बताया कि इसके लिए गूगल प्ले स्टोर से ई-संजीवनी मोबाईल एप डाउनलोड करना होगा। इसमें व्यक्ति अपना पंजीकरण नाम, पता, लिंग एवं आयु की जानकारी भरकर रजिस्ट्रेशन करवा सकता है। ओटीपी के माध्यम से मोबाईल नम्बर का सत्यापन किया जाएगा।

व्यक्ति को रजिस्ट्रेशन तथा टोकन नम्बर एसएमएस के माध्यम से प्राप्त होगा। परामर्श के लिए रजिस्ट्रेशन नम्बर अथवा मोबाईल नम्बर और टोकन नम्बर डालकर लॉगइन करना होगा। लॉगइन करने पर मरीज स्वतः लाईन में लग जाता है। व्यक्ति का नम्बर आते ही मोबाईल पर घण्टी आएगी। घण्टी आने पर कॉल नाउ पर क्लिक करके डॉक्टर से जुड़ा जा सकता है।

डॉक्टर को अपनी परेशानी, लक्ष्ण, बीमारी एवं पुराना परचा बताया जा सकता है। इससे चिकित्सक दवाईयां बता देगा। मोबाईल पर ई-प्रिस्कि्रप्शन प्राप्त होगा। इसका उपयोग करके निकटतम निःशुल्क दवा केन्द्र अथवा मेडिकल स्टोर से दवाएं ली जा सकती है। ई-प्रिस्कि्रप्शन एप के पेसेंट प्रोफाइल सेक्शन में भी उपलब्ध रहेगा। इसी सेक्शन में व्यक्ति अपने सदस्यों को जोड़कर उनकी बीमारी का भी समाधान करवा सकता है।