चीन में कोरोना वायरस के बाद शुरू हुआ हंता का कहर, एक मरा

बीजिंग। चीन में दिसंबर माह में उपजे घातक कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ के कहर से दुनिया अभी उबर भी नहीं पाई है कि ड्रैगन कंट्री में फिर एक नए जानलेवा वायरस हंता ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं और वहां इससे संक्रमित एक व्यक्ति की मौत हो गई है।

हंता वायरस के संक्रमण के कारण शांशी प्रांत के दक्षिण-पश्चिमी युन्नान क्षेत्र में एक व्यक्ति की मौत होने की खबर है। अधिकारियों ने पुष्टि की है कि इस सप्ताह दक्षिण-पश्चिमी युन्नान क्षेत्र में एक व्यक्ति की बस में मौत हो गई थी जो हंता वायरस से संक्रमित था।

उसकी मौत की खबर चीनी सोशल मीडिया पर काफी साझा की गई जिससे काेरोना वायरस से लड़ रहे चीन और दुनिया भर में एक नए वायरस के प्रकोप की चिंता बढ़ गई है।

निंगशान काउंटी सरकार ने मंगलवार को जारी एक बयान में कहा कि शांशी अंकांग सिटी सीडीसी ने तियान और तीन अन्य लोगों के कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच की थी। उन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी लेकिन तियान का हंता वायरस टेस्ट पॉजिटिव आया था। उसकी सोमवार तड़के मौत हो गई। शांशी अंकांग सिटी सीडीसी अब उन सभी लोगों में भी हंता वायरस की जांच कर रहा है जो तियान के साथ बस में सफर कर रहे थे।

गंभीर स्थिति और उपचार नहीं होने पर जानलेवा साबित होने वाला हंता संक्रमण दुर्लभ है। रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र के अनुसार दशकों से हमारे आसपास रहने वाला यह वायरस चूहा, गिलहरी जैसे रोडेंट समूह के जीवों के मल-मूत्र और लार से फैलता है। इनके काटने के हालांकि इसका प्रभाव कम होता है।

चिली और अर्जेंटीना में मनुष्यों के आपसी संपर्क से भी हंता वायरस के संक्रमण के दुर्लभ मामले सामने आए हैं। यूरोप और एशिया में हंता वायरस के सबसे अधिक मिलने वाले मामलों में गुर्दे के सिंड्रोम के साथ रक्तस्रावी बुखार हो सकता है। अमरीका में इस वायरस से हंता वायरस पल्मोनरी सिंड्रोम हो सकता है जिसमें कोविड​-19 जैसे लक्षण होते हैं।