दिल्ली जीत के पश्चात आप पंजाब में भी हुई सक्रिय

जालंधर। दिल्ली विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी को मिली अपार सफलता का प्रभाव पंजाब में भी दिखने लगा है। आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पंजाब में भी पार्टी के कार्यकर्ता सक्रिय हो गए हैं।

पंजाब दोआबा जोन के प्रधान तरनदीप सन्नी ने गुरुवार को लगभग एक सौ से अधिक युवाओं को पार्टी में शामिल करवाया। इसके अतिरिक्त पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को मजबूत करने के लिए उन्होंने युवा इकाई के जिला शहरी, ग्रामीण इंचार्ज और हलका इंचार्जों की नियुक्तियां की।

आप के पंजाब युवा अध्यक्ष मंजिंदर सिंह की उपस्थिति में उन्होने जसकरन सिंह को जिला जालंधर शहरी का इंचार्ज, हरमिंदर सिंह जोशी को जिला जालंधर देहाती का इंचार्ज, एडवोकेट परमवीर सिंह को युवा प्रकोष्ठ का इंचार्ज, हरमीत सिंह को जालंधर छावनी, रणजीत सिंह को जालंधरपूर्वी का इंचार्ज तथा अमृतवीन को सह इंचार्ज नियुक्त किया गया। इसी प्रकार कर्मजीत सिंह को आदमपुर, प्रितपाल सिंह टिवाला को करतारपुर का इंचार्ज तथा प्रिंस को छावनी का सह इंचार्ज नियुक्त किया गया।

इस अवसर पर सन्नी ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने दिल्ली विधानसभा चुनाव दौरान लोगों के सामने खुल कर झूठ बोला है। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर ने दिल्ली में कहा कि उन्होंने पंजाब में उद्योगों को चार से छह रूपए प्रति युनिट बिजली दी है, 11 लाख रोजगार दिए हैं, 5500 स्मार्ट स्कूल बनाए हैं। मोहल्ला क्लीनिकों की तर्ज पर राज्य में वेलनेस केन्द्र खोले हैं, जो सिर्फ झूठ का पुलिंदा है।

उन्होंने कहा कि पंजाब विधानसभा चुनावों दौरान लोगों से किया एक भी वादा को पूरा करने की बजाए पंजाब सरकार ने बिजली की दरों में बढ़ोतरी कर लोगों पर अतिरिक्त बोझ डाल दिया है।

उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने उद्योगों को पांच रुपये प्रति युनिट बिजली देने का वादा किया था लेकिन इसके विपरीत सरकार ने अब बिजली के दामों में और बढ़ोतरी कर दी है। उन्होंने कहा कि पंजाब बिजली अधिशेष राज्य होने के बावजूद निजी कंपनियों से महंगी दरों पर बिजली खरीद कर लोगों को महंगी बिजली उपलब्ध करवा रहा है।

उन्होंने कहा कि एक तरफ पंजाब बिजली अधिशेष राज्य है तो दूसरी तरफ दिल्ली में आम आदमी पार्टी के सरकार बिना बिजली पैदा किए ही दिल्ली वासियों को बहुत कम दामों पर बिजली उपलब्ध करवा रही है।

सन्नी ने अकाली दल और कांग्रेस पर बिजली माफिया के साथ मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस अगर पंजाब हितेषी होती तो सत्ता में आते ही निजी थर्मलों के साथ अकाली दल द्वारा किए गए खरीद समझौते को रद्द कर सकती थी जबकि विधानसभा चुनावों से पूर्व कांग्रेस का यही मुख्य मुद्दा था।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के बादल सरकार के पदचिह्नों पर चल कर बिजली माफिया का हिस्सा बन चुकी है जिसके चलते पंजाब के लोगों को अब नौ रुपये प्रति युनिट बिजली खरीदनी पड़ रही है।

सन्नी ने कहा कि राज्य से नशा खत्म करने के लिए गुटका साहिब की शपथ लेकर सत्ता में आई कांग्रेस सरकार ने अभी तक एक भी वादा पूरा नहीं किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में नशा खत्म होने की बजाए पहले से कई गुणा बढ़़ चुका है।

सरकार रेत बजरी और शराब माफिया पर रोक लगाने में असफल रही है। बढ़ रहे नशे के कारण राज्य में अपराधिक घटनाओं में वद्धि हुई है। आए दिन राज्य में हत्याएं, छीना झपटी और चोरी की घटनाओं में वृद्धि हुई है।

उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सत्यापित करें कि उन्होंने दिल्ली में दिए अपने भाषण में पंजाब संबंधी जो कहा, वह सही है या फिर अपने झूठ को स्वीकार करें, अन्यथा दोआबा क्षेत्र में आने पर उनका घेराव किया जाएगा।

इस अवसर पर उपस्थित मंजिंदर सिंह, गुरिंदर सिंह, शिव दयाल माली और युवा प्रकोष्ठ पंजाब के इंचार्ज हर्ष ने कहा कि पंजाब सरकार भारी वित्तीय संकट से गुजर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के पास कर्मचारियों को वेतन देने के लिए राशि नहीं है। उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार ने पंजाब विश्वविद्यालय के कर्मचारियों के वेतन में कटौती करने के लिए कहा है जोकि अनुचित है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में पार्टी की जीत का प्रभाव पंजाब में भी होगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि राज्य को अकाली दल, कांग्रेस और भाजपा के चुंगल से आजाद करवाने के लिए पार्टी के दिल्ली में किए गए कार्यों को ध्यान में रखते हुए आगामी विधानसभा चुनाव में वोट करें तथा पंजाब में भी आप पार्टी की सरकार बनाएं।