अपने वरिष्ठ सहयोगी के घर के बाहर कार्यकर्ताओं के हंगामे से हूं आहत : चिदंबरम

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने पार्टी नेतृत्व के खिलाफ वरिष्ठ नेताओं के पार्टी के आधिकारिक मंच से बाहर आवाज उठाने पर खिन्नता जताई है लेकिन कहा कि जिस तरह से उनके वरिष्ठ सहयोगी के घर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर नारेबाजी की उससे वह बहुत आहत हैं।

चिदंबरम ने किसी सहयोगी का नाम लिए बिना कहा कि जब हम पार्टी मंचों के भीतर सार्थक बातचीत शुरू नहीं कर पाते हैं तो मैं खुद को असमर्थ महसूस करता हूं। जब मैं अपने एक सहयोगी एवं पार्टी सांसद के घर के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की नारेबाज़ी वाली तस्वीरें देखता हूं तो मैं स्वयं को बहुत आहत और असहाय महसूस करता हूं। बंदरगाह तक नाव की सुरक्षित वापसी के लिए मौन सबसे अच्छा।

गौरतलब है कि कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल उठाने वाले वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद बुधवार को जब कहा कि वह ‘जी हजूरी’ पर भरोसा नहीं करते और कांग्रेस नेतृत्व से पार्टी हित में सवाल पूछते रहेंगे तो उसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रात को सिब्बल के आवास के बाहर हंगामा किया और उनके खिलाफ नारेबाजी की।

कांग्रेस नेतृत्व के फैसले पर अब नटवर सिंह ने उठाए सवाल