दिल्ली विधानसभा में टीपू सुल्तान की तस्वीर लगाने का विरोध

After Karnataka, Row Over Tipu Sultan Now Lands In Delhi
After Karnataka, Row Over Tipu Sultan Now Lands In Delhi

नई दिल्ली। दिल्ली के विधायक मनजिन्दर सिंह सिरसा ने ‘आप’ सरकार की तरफ से दिल्ली विधानसभा में टीपू सुल्तान की तस्वीर लगाए जाने के फैसले का जोरदार विरोध किया है और कहा है कि टीपू सुल्तान एक तानाशाह था, जिसने अपनी मर्जी अनुसार जबरन लोगों का धर्म परिवर्तन करवाया।

सिरसा ने एक बयान में कहा कि टीपू सुल्तान ने खुद यह बात मानी थी कि उसने 400 हजार हिंदुओं को जबरन मुस्लिम बनाया है। उन्होंने कहा कि ऐसे सांप्रदायिक व्यक्ति की तस्वीर विधानसभा में लगाने का आप सरकार का फैसला बिल्कुल ही तर्कहीन है।

सिरसा ने विधानसभा अध्यक्ष से अपील की कि वह ऐसी तस्वीर तुरंत हटाए जाने का हुक्म दें, नहीं तो वह खुद इसको हटाने के लिए मजबूर होंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री से भी अपील की कि वह लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करना बंद करें।

दिल्ली के विधायक ने मुख्यमंत्री को सुझाव दिया कि यदि वह महान शख्सियतों की तस्वीर ही लगाना चाहते हैं तो फिर जस्सा सिंह अहलूवालिया की तस्वीर लगाएं, जिन्होंने सबसे पहले दिल्ली फतह की थी।

उन्होंने कहा कि जस्सा सिंह ने मुगल शासन के खिलाफ लड़ाई लड़ी और मुगलों पर पहली जीत हासिल की। उन्होंने कहा कि सिर्फ जीत ही नहीं, बल्कि जस्सा सिंह ने अहमद शाह अब्दाली की तरफ से अफगानिस्तान में गुलाम बनाने के लिए ले जाई जा रहीं 2,200 भारतीय महिलाओं को भी मुक्त करवाया था।