अजय माकन के एक रिट्वीट से गहलोत समर्थक कांपे, पायलट खेमे में खुशी

जयपुर। राजस्थान के कांग्रेस प्रभारी अजय माकन के एक रिट्वीट से कांग्रेस में हलचल मच गई, जिसमें लिखा है कि किसी भी राज्य में कोई क्षत्रप अपने दम पर नहीं जीतता है। गांधी नेहरू परिवार के नाम पर ही गरीब, कमजोर वर्ग, आम आदमी का वोट मिलता है। मगर चाहे वह अमरिन्दर सिंह हों या गहलोत।

माकन द्वारा किए गए रिट्वीट में आगे लिखा- पहले शीला या कोई और, मुख्यमंत्री बनते ही यह समझ लेते हैं कि उनकी वजह से ही पार्टी जीती। रिट्वीट के दूसरे भाग में लिखा है कि बीस साल से ज्यादा अध्यक्ष रही सोनिया ने कभी अपना महत्व नहीं जताया। नतीजा यह हुआ कि वे वोट लाती थीं और कांग्रेसी अपना चमत्कार समझकर गैर जवाबदेही से काम करते थे। हार जाते थे तो दोष राहुल पर, जीत का सेहरा खुद के माथे, सिद्धू को बनाकर नेतृत्व ने सही किया।

उल्लेखनीय है कि पंजाब में पार्टी में अंदरुनी खींचतान के चलते नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया हैं जबकि राजस्थान में चल रही कांग्रेस की अंदरूनी खींचतान के सुलह के लिए माकन पिछले दिनों जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने के बाद यह माना जा रहा था कि कोई सुलह निकल आएगी, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। इस बीच माकन का यह रिट्वीट सामने आया हैं।

नवजोत सिद्धू को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की कथित नाराजगी के बावजूद पंजाब का कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बना दिया गया जबकि राजस्थान में पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट खेमा पिछले करीब एक साल से अपनी मांगों के पूरा होने का इंतजार कर रहे हैं।

निर्णय से पहले सलाह मशविरा करने की परम्परा रही है कांग्रेस की : गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलाेत ने कहा है कि किसी भी निर्णय से पहले सलाह मशविरा करने की कांग्रेस की परम्परा रही है। गहलोत ने पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने पर बधाई देते हुए आज कहा कि पार्टी में सभी को अपनी बात रखने का मौका मिलता है।

सबकी राय को ध्यान में रखकर जब एक बार पार्टी का शीर्ष नेतृत्व फैसला ले लेता है तब सभी कांग्रेसजन एकजुट होकर उसे स्वीकार करने की परम्परा को निभाते हैं। यही कांग्रेस की सबसे बड़ी ताकत है।

उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलकर मीडिया के सामने पिछले सप्ताह ही घोषणा कर दी थी कि वह कांग्रेस अध्यक्ष के हर फैसले को स्वीकार करेंगे।

गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी ने नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने की घोषणा कर दी है। इसके लिए सिद्धू को बधाई एवं शुभकामनाएं। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि सिद्धू पार्टी की परम्परा का निर्वहन करने के साथ ही सभी को साथ लेकर पार्टी की रीति-नीति को आगे बढ़ाने का कार्य करेंगे।