VIDEO अजमेर बंद : पुलिस ने भांजी लाठियां, पूर्व विधायक जयपाल को भी नहीं बख्शा

अजमेर। अजमेर बंद के दौरान सोमवार को बिगडे माहौल के बाद पुलिस सख्ती पर उतर आई। बंद समर्थकों को पुलिस ने दौडा दौडाकर पीटा। कलेक्ट्रेट पर लाठीचार्ज से बचने के लिए बंद समर्थक समीप स्थित कांग्रेस के पूर्व विधायक राजकुमार जयपाल के घर में जा घुसे। बंद समर्थकों के पक्ष में बोलने पर पुलिस ने जयपाल को भी नहीं बख्शा और उन्हें हिरासत में ले लिया।

जयपाल ने विरोध किया तो पुलिस ने उन्हें धकियाते हुए उनके घर से बाहर निकाला लिया। जयपाल के साथ मौजूद कांग्रेस के कुछ अन्य नेताओं तथा वकीलों पर भी पुलिस का कहर टूटा। सभी को पुलिस ने जबरन जीप में बैठाया और ले गई। देखते ही देखते कलेट्रेट परिसर के बाहर का क्षेत्र पुलिस छावनी में तब्दील हो गया।

ajmer bandh : police lathicharge on bandh supporters in ajmer
ajmer bandh : police lathicharge on bandh supporters in ajmer

सुबह से शांतिर्पूा चल रहे बंद ने दिन चढने के साथ हिंसक रूप ले लिया। हाथों में लट्ठ और सरीए लेकर दुपहिया वाहनों पर सवार बंद समर्थकों की ललकार पुलिस को नागवार गुजरी, पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए उन पर जमकर लाठियां भांजी।

कलेक्ट्रेट के बाहर जमा बंद समर्थकों को तो पुलिस ने दौडा दौडाकर पीटा। पुलिस की मार से बचने के लिए कई बंद समर्थक सडक पर ही अपने वाहन छोड भागे। पुलिस ने ज्योतिबाफुले सर्किल और ट्यूरिस्ट बंगले तक उनका पीछा करते हुए ला​ठियां फटकारीं।

बतादें कि एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में सोमवार को आहूत अजमेर बन्द दिन चढने के साथ हिंसक हो उठा। शहर बन्द करने निकले दलित संगठनों के कार्यकर्ता डंडों का दम दिखाकर जबरन बंद कराने पर उतारू हो उठे। उन्होंने पुलिस बल भी हमला कर दिया।

कलेक्ट्रेट परिसर पर घेरा डालकर डंडे लहरा रहे आंदोलन कारियों पर पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए जमकर लाठीचार्ज कर दिया। इससे करीब आधा घण्टे तक कलेक्ट्रेट के आसपास अफरा-तफरी का माहौल रहा।

भारत बंद के तहत सोमवार को अजमेर में भी बंद का आह्वान किया गया है। सुबह से ही दलित संगठनों के कार्यकर्ताओं ने मोर्चा संभाल लिया। शहर में कई जगहों पर बंद समर्थकों की टोलियां टोलियां हाथों में लाठियां-बांस बल्लियां आदि लेकर निकल पड़ीं। सुबह करीब 10 बजे तक हालात सामान्य रहे। इसके बाद जयपुर रोड पर भुनाबाय में कार्यकर्ता हिंसक हो गए।


उन्होंने कुछ दुकानों में तोड़फोड़ और दुकानदारों पर हमला कर दिया। इससे तनाव की स्थिति पैदा हो गई। सूचना मिलने पर कलेक्ट्रेट से स्पेशल पुलिस बल भुनाबाय रवाना हुआ। इधर, बन्द समर्थक कलेक्ट्रेट आ पहुंचे। उन्होंने हाथों में लाठियां लेकर कलेक्ट्रेट को घेर लिया और प्रदर्शन करने लगे।

पुलिस ने हिंसक कार्यकर्ताओं पर लाठियां भांजना शुरू किया तो भगदड़ मच गई। लाठीचार्ज की चपेट में कई आम नागरिक और मीडिया कर्मी भी आ गए। पुलिस से बचने के लिए बंद समर्थक ज्योतिबा फुले सर्किल की तरफ भागे। कुछ ने कलेक्ट्रेट के पास स्थित पूर्व विधायक एवं कांग्रेस नेता डॉ.राजकुमार जयपाल के आवास में घुसकर जान बचाई तो कुछ खादिम ट्यूरिस्ट बंगले में घुस गए। उनके पीछे-पीछे पुलिस भी वहां पहुंच गई और लाठियों से पीटते हुए उन्हें बाहर लेकर आई।

खबर लिखे जाने तक कार्यकर्ताओं की धर पकड़ जारी थी। पुलिस ने कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। इस बीच शहर के बाजारों में सन्नाटा पसरा है तथा हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। पुलिस ने अभी गिरफ्तार लोगों की संख्या और कार्रवाई के बारे में अधिकारिक रूप से अभी कोई जानकारी नहीं दी है।

SC ST AANDONAL KA ASAR JODHPUR JESLMER aur datrai

VIDEO : अजमेर बंद के दौरान लाठी लेकर हुडदंग मचाने वालों पर पुलिस ने भांजी लाठियां