देवनानी ने स्मार्ट सिटी कार्यों को जांच पूरी होने तक रोकने की मांग की

अजमेर। राजस्थान के पूर्व शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने केंद्र सरकार के अजमेर स्मार्ट सिटी बोर्ड में राज्य सरकार द्वारा स्वतंत्र निदेशकों की नियुक्ति पर रोक लगाने का स्वागत करते हुए जांच पूरी होने तक स्मार्ट सिटी कार्यों को तत्काल प्रभाव से रोके जाने की मांग की है।

देवनानी ने एक ट्वीट करके कहा कि कांग्रेस सरकार द्वारा असंवैधानिक तरीके से कांग्रेसी नेताओं को उपकृत करने के लिये नियुक्त स्वतंत्र निदेशकों पर केंद्र सरकार ने रोक लगाई है। स्मार्ट सिटी योजना में हो रहे भ्रष्टाचार एवं अनियमितताओं पर भी केंद्र ने जांच के आदेश दिए हैं। इसलिए अजमेर में स्मार्ट सिटी के कामों को तत्काल रोका जाए।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव एवं सांसद भागीरथ चौधरी ने केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी से मिलकर अजमेर में स्मार्ट सिटी के तहत घटिया निर्माणों, भ्रष्टाचार एवं अनियमितता की शिकायत की थी। इस पर कार्रवाई करते हुए पुरी ने तुरंत जांच के आदेश दिए।

आदेश की रोशनी में केंद्रीय आवासीय एवं शहरी विकास विभाग के निदेशक (तृतीय) राहुल कपूर ने स्वतंत्र निदेशकों की नियुक्ति पर भी जांच पूरी होने तक रोक के आदेश जारी कर दिए। इससे पहले राजस्थान सरकार ने अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड बोर्ड में दो पूर्व विधायकों डॉ. श्रीगोपाल बाहेती एवं डॉ. राजकुमार जयपाल की स्वतंत्र निदेशक के रूप में नियुक्ति की थी जिस पर अब केंद्र की रोक लग गई है।