कलक्टर आरती डोगरा ने पुष्कर क्षेत्र में किया आकस्मिक निरीक्षण

Ajmer Collector arti Dogra on casual inspection of Pushkar area

अजमेर। जिला कलक्टर आरती डोगरा ने बुधवार को पुष्कर क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर आकस्मिक निरीक्षण कर जायजा लिया एवं संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश प्रदान किए। इनके साथ पीसांगन प्रधान अशोक सिंह रावत, कडेल सरपंच महेन्द्र सिंह मझेवला एवं उपखण्ड अधिकारी विष्णु कुमार गोयल भी थे।

डोगरा ने कड़ेल ग्राम पंचायत के डूंगरिया खुर्द गांव में महात्मा गांधी नरेगा के माध्यम से बनने वाले मुख्य सड़क से उप स्वास्थ्य केन्द्र होते हुए केसर सिंह के घर तक सीसी ब्लॉक जोधपुर खरंजा कार्य का निरीक्षण किया। इस कार्य पर लगभग 9 लाख 80 हजार की लागत आएगी। इसका कार्य संतोषजनक पाया गया।

महात्मा गांधी नरेगा के अन्तर्गत व्यक्तिगत लाभार्थी श्रेणी में छोटू भांबी के घर पर बने बकरी आश्रय स्थल का अवलोकन किया। स्थानीय सरपंच महेन्द्र सिंह मझेवला ने जिला कलक्टर को अवगत कराया कि ग्रामीण क्षेत्रों में बकरी पालन रोजगार का अच्छा साधन है। सरकार द्वारा पात्र परिवारों को 4 बकरियां उपलब्ध करवाने की योजना है। साथ ही बकरी पालन करने वाले परिवारों को उन्नत नस्ल के बकरे उपलब्ध करवाए जाएंगे।

प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी राधेश्याम रेगर के निर्माणाधीन भवन का निरीक्षण किया। यहां पर व्यक्तिगत लाभार्थी के साथ पत्नी सीमा को भी नरेगा से मजदूरी मिल रही थी। जिला कलक्टर लाभार्थी के परिवार से मिली उनके बच्चों को पढ़ाई के लिए प्रेरित किया। पुत्री अनुषा 9वीं, मोनिका 4 में तथा पुत्र प्रकाश ने 7वीं कक्षा में मेहनत के साथ पढ़ाई करने का संकल्प लिया। यहां मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के तृतीय चरण में निर्मित वर्षा जल के संग्रहण का टांका भी देखा।

जिला कलक्टर ने मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के अन्तर्गत चरागाह धौली डूंगरी के पास लगभग 15 लाख की लागत से होने वाले बांध खुदाई के कार्य का निरीक्षण किया। साथ ही ग्राम रेंवत में लगभग 4 लाख की लागत से जाटों के खेत के पास नाडी खुदाई के कार्य का अवलोकन किया। वर्षा जल के संग्रह के लिए इस प्रकार की संरचनाओं को पर्यावरण के लिए उपयुक्त बताया साथ ही सहायक अभियंता श्री कपिल भार्गव को अभियान के अधिकतर कार्य बारिश से पहले पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।

खाद्यान भण्डार गृह का ले उपयोग

कडेल ग्राम पंचायत में दो वर्ष पूर्व बने खाद्यान भण्डार गृह का उपयोग लेने के लिए जिला कलक्टर ने पीसांगन के विकास अधिकारी गौतम राम चौधरी को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण एवं किसानाें की सुविधा के लिए सरकार द्वारा खाद्यान भण्डार गृह निर्मित किए गए हैं। इनका उपयोग सुनिश्चित किया जाना चाहिए। इनमें मिनी बैंक, अन्नपूर्णा भण्डार एवं खाद्यान भण्डार को संचालित किया जाकर उपयोगी बनाना आवश्यक है। जिला कलक्टर ने ग्रामीण हाट बाजार के लिए आवंटित भूमि का भी अवलोकन किया।

महिला नर्सरी संचालक को मिले योजनाओं का लाभ

जिला कलक्टर ने पीसांगन के विकास अधिकारी गौतम राम चौधरी को निर्देशित किया कि कडेल ग्राम पंचायत की महिला नर्सरी संचालक हाबू देवी पत्नी स्व. रामलाल चौधरी को ग्रामीण विकास, कृषि एवं उद्यान विभाग की योजनाओं से लाभान्वित किया जाए। इसमें व्यक्तिगत रूचि लेकर योजनाओं से जोड़ा जाए।

जिला कलक्टर ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पुष्कर एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कडेल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मरीजों में विश्वास विकसित कर ओपीडी में वृद्धि के लिए कहा। जैविक कचरे का निस्तारण सही तरीके से किया जाए। दिन में दो बार कचरे को हटाकर आबादी से दूर विसंक्रमित अवस्था में निस्तारित किया जाए। चिकित्सालयों में निःशुल्क दवा योजना के अन्तर्गत सम्पूर्ण दवाईयां उपलब्ध होनी चाहिए। पुष्कर के चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजकुमार गुप्ता एवं कडेल के मेल नर्स  हरीश शोभावत को संस्थागत प्रसव बढ़ाने के लिए निर्देशित किया।

कडेल में अटल सेवा केन्द्र पर जिला कलक्टर ने ई मित्र तथा ई मित्र प्लस का निरीक्षण कर कार्यप्रणाली की जांच की। ई मित्र प्लस मशीन को ग्रामीणों के लिए बहुत उपयोगी बताया। इस मशीन से ग्रामीण ई मित्र से जुड़े समस्त कार्य स्वयं कर सकते हैं। विभिन्न सेवाओं के लिए निर्धारित शुल्क भी सीधे मशीन में जमा करवा सकते है।

कलक्टर ने ब्रह्मा मन्दिर एन्ट्री प्लाजा के निर्माण कार्य को देखा। उन्होंने राजस्थान राज्य सड़क विकास निगम के अधीशाषी अभियंता राजेश मोदी को एन्ट्री प्लाजा के भव्य एवं शीघ्र निर्माण के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किए। पुष्कर के पूराना रंगजी मन्दिर के आनंद प्रसाद गनेरीवाल से पुष्कर एवं इससे जुड़े धार्मिक स्थलों के विकास के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा की।