अजमेर में टाटा पावर के खिलाफ कांग्रेस का कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन

अजमेर। अजमेर शहर की चरमराई बिजली आपूर्ति व्यवस्था तथा नियम विरुद्ध वित्तीय वसूली के खिलाफ अजमेर कांग्रेस ने टाटा पावर के खिलाफ बुधवार को कलेक्ट्रेट के बाहर जमकर प्रदर्शन किया और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

सुबह 10 बजे डाक बंगले से जुलूस के रूप में कांग्रेस नेता, पदाधिकारी और कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पहुंचे। शहर अध्यक्ष विजय जैन के नेतृत्व में कलेक्टर आरती डोगरा को टाटा पावर के खिलाफ ज्ञापन सौंपा।
ज्ञापन में बताया गया कि जब से शहर की बिजली वितरण व्यवस्था टाटा पावर को सौंपी गई है तभी से आम उपभोक्ता अनियमित आपूर्ति, अनियमित वसूली, बिलों में खामियों आदि समस्याओं से त्रस्त है। इस बारे में टाटा पावर को समय समय पर ​सुधार के लिए निवेदन भी किया जाता रहा लेकिन अभी तक कोई सकारात्मक कदम उठाया गया हो ऐसा नहीं लगता।
src=”https://www.sabguru.com/wp-content/uploads/2018/07/congress-1.jpg” alt=”ajmer Congress protest against tata power limited over electricity problems at collectorate in Ajmer” width=”600″ height=”350″ /> ajmer Congress protest against tata power limited over electricity problems at collectorate in Ajmer

टाटा पावर अपना मुनाफा बढाने के लिए विभिन्न तरीके के अनियमित एवं विधि विरुद्ध हथकंडे अपना रही है, जो जनहित में कतई स्वीकार्य नहीं है। ज्ञापन में बताया गया कि सबसे बडी अवस्था उपभोक्ता की शिकायतों के निवारण को लेकर है। कॉल सेंटरों पर शिकायत दर्ज करने के काम पर अकुशल कार्मियों की भर्ती की गई है जो कि जन शिकायतों के प्रति उदासीन रवैया अपनाते हैं साथ ही उपभोक्ता से दुर्व्यवहार करते हैं। शिकायत का समाधान न होने पर उच्चाधिकारियों से मिलने नहीं दिया जाता।

डिस्कॉम द्वारा कार्यभार स्थानांतरण से पूर्व प्रीपेड मीटरों की व्यवस्था की गई थी तथा स्थापित प्रीपेड मीर सूचारू रूप से कार्य कर रहे थे बावजूद इसके टाटा पावर लिमिटेड ने डिस्कॉम के बिना अनुमोदन ही ऐसे सारे मीटरों को हटा दिया। राज्य सरकार द्वारा इन मीटरों पर खर्च की गई लाखों रुपए की राशि को भी निष्फल कर दिया गया।

बिजली बिलों में खामियों को लेकर आम उपभोक्ता खासे परेशान रहते हैं। टाटा पावर की गलती होने के बाद भी दंड उपभोक्ता को भुगतना पडता है। गलत बिल आने, अनुचित ​मीटर रीडिंग, अधिक राशि की मांग जैसी आम शिकायतों के निराकरण के लिए लोगों को ​कंपनी के चक्कर काटने पडते हैं।

शहर जिला कांग्रेस ने बीती 3 जुलाई को प्रजातांत्रिक तरीके से इन मुद्दों पर आंदोलन कर टाटा पावर के उच्चाधिकारियों को सूचित कर 15 दिन के भीतर समस्याओं के निराकरण करने बाबत आग्रह किया था। यह अवधि बीत जाने पर भी समस्याएं जस की तस बनी हुई है। अत: टाटा पावर के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए।

ज्ञापन देने वालों में कांग्रेस शहर अध्यक्ष विजय जैन के साथ पूर्व मंत्री नसीम अख्तर, हेमंत भाटी, सुकेश साकरिया, वैभव जैन, विपिन बैंसिल, शहर महासचिव श्याम प्रजापत, शहर सचिव बालमुकुंद टांक, अभिलाषा विश्नोई, सबा खान, अरुणा कछावा, कैलाश कोमल, गिरधर तेजवानी, रमेश सोलंकी, योगेश गोठवाल,मनीष सेठी, दीपक धानका, अंकुर त्यागी, शैलेन्द्र अग्रवाल समेत बडी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।