प्रियंका वाड्रा की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने फूंका योगी का पुतला

अजमेर। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में दस आदिवासियों की हत्या की घटना को लेकर पीड़ित परिवार वालों से मिलने के लिए गई कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में आज यहां पार्टी कार्यकर्ताओं ने अपराहन बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका।

अजमेर जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से शहर अध्यक्ष विजय जैन की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका। जैन ने इस मौके पर आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए विपक्ष को प्रताड़ित कर रहे हैं और इसी कड़ी में प्रियंका को गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है और जब से सत्ता योगी के हाथ में आई है तब से वहां गुंडाराज कायम हो गया है। जैन ने योगी आदित्यनाथ पर ‘तानाशही’ का रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रियंका वाड्रा को सोनभद्र ‘नरसंहार’ के पीड़ित परिजनों से मिलने से रोकना ‘लोकतंत्र की हत्या’ जैसा कदम है।

भाजपा सरकार ने कांग्रेस महासचिव को सामाजिक एवं लोकतांत्रिक कर्तव्यों का निर्वहन करने से रोकने के लिए पुलिस का सहारा लिया है। सरकार के इस रवैये की जितनी भी निंदा की जाए, वह कम है।

गौरतलब है कि जमीन विवाद को लेकर गत बुधवार को गांव की तीन महिलाओं समेत 10 आदिवासियों की अंधाधुंध गोलीबारी कर हत्या कर दी गई थी। इस निर्मम घटना में 24 से अधिक लोग धायल हो गए थे, जिनका इलाज वाराणसी और सोनभद्र के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है।

पुलिस ने इस मामले में वहां के ग्राम प्रधान प्रज्ञदत्त समेत 28 नामजद समेत 50 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। इनमें से मुख्य आरोपी प्रज्ञदत्त समेत 28 लोग गिरफ्तार किये गए हैं। इनमें 12 नामजद आरोपी शामिल हैं। इस बीच, पुलिस सूत्रों ने बताया कि वाराणसी (कैंट) रेलवे स्टेशन से एक आरोपी कोमल सिंह को हिरासत में लिया गया है, जो भदोही रेलवे स्टेशन के अधीक्षक बताये जाते हैं।