अजमेर में दरगाह देगों के ठेके के लिए बोली

अजमेर। अजमेर में विश्व प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह में स्थित देगाें का ख्वाजा साहब के 806वें सालाना उर्स एवं पुष्कर मेले के लिए ठेका देने के लिए लगाई जा रही बोली मंगलवार को दूसरे दिन तीन करोड़ 40 लाख 47 हजार रुपए तक पहुंच गई।

उर्स के पंद्रह दिन एवं पुष्कर मेले के दौरान दस दिनों के लिए दरगाह परिसर स्थित दोनों देगों के ठेके की बोली सोमवार को शुरू की गई थी। बोली लगाने का क्रम जारी रहेगा। छोटी एवं बड़ी देग के ठेके की बोली लगाने के लिए अनेक ग्रुप डटे हुए हैं।

गत वर्ष यह ठेका 3 करोड़ 92 लाख रुपए में छूटा था। खादिमो की दोनों संस्थाओं अंजुमन मोईनिया एवं अंजुमन यादगार से जुड़े पदाधिकारियों को उम्मीद है कि गत वर्ष की तुलना में इस बार का ठेका ज्यादा राशि में छूटेगा।

गौरतलब है कि ख्वाजा साहब के 806वें सालाना उर्स का झंडा 14 मार्च को चढ़ने जा रहा है और चांद की तारीख से 18 अथवा 19 मार्च से छह दिवसीय उर्स विधिवत प्रारंभ हो जाएगा।