स्मार्ट सिटी अजमेर को ‘नरक’ बनाने में जुटी नगर निगम

अजमेर। स्मार्ट सिटी का तमगा मिलने के बाद अजमेर के सरकारी विभाग कुंभकरणी नींद में सो गए हैं। हां, ​कोई वीआईपी विजिट हो जाए तो ये एक टांग पर खडे होकर अपने आकाओं की जी हुजूरी में जुट जाते हैं। खासकर नगर निगम की कार्यप्रणाली से लोग उकता चु​के हैं। निगम समस्या दूर करने की बजाय खुद समस्या बना हुआ है।

निगम का हाल यह है कि विश्व प्रसिद्ध मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह की तरफ जाने वाली मुख्य सडक पर प्रेम प्रकाश आश्रम देहली गेट के समीप सफाई के नाम पर एक नाले को खोदा गया। तब से लेकर 10 से ज्यादा बीत गए लेकिन नाला खुदा ही पडा है।

संकरा मार्ग होने से लोगों का आना जाना भी कठिन हो गया, उस पर हर समय नाले में गिरने का भय बना रहता है। देश विदेश से दरगाह जियारत को आने वाले जायरीन भी इस बदसूरती को अपनी कैमरा में कैद कर ले जाते हैं। खुदे पडे नाले के कारण संभावित दुर्घटना की आशंका के चलते क्षेत्रवासी खासे परेशान हैं, लेकिन कोई उनकी सुनने वाला नहीं है। उनका कहना है कि निगम के चक्कर लगा कर परेशान हो चुके हैं।