महाभारत सन्देश पर 11 फरवरी को अजमेर में स्वामी गोविन्द देव गिरी के प्रवचन

अजमेर, 13 जनवरी। महाभारत सन्देश पर 11 फरवरी को जवाहर रंगमंच में अजमेर में स्वामी गोविन्द देव गिरी (किशोरे जी व्यास) महाराज का सान्निध्य मिलेगा तथा आशीर्वचन होंगे।

धर्म एवं अध्यात्म की नगरी अजमेर में धर्म एवं अध्याय के प्रवर्तक गोविन्द देव गिरि जी महाराज पहली बार पधार रहे हैं। धर्मप्रेमी लोगों को महाभारत सन्देश पर उद्बोधन एवं आशीर्वचन श्रवण करने का अवसर मिलेगा।

उमेश गर्ग एवं अजीत अग्रवाल ने बताया कि इस कार्यक्रम के विधिवत आयोजन के ​लिए तैयारी बैठक भगवती राठी के निवास पर आयोजित की गई। बैठक में तय किया गया कि 11 फरवरी, रविवार सुबह 10 बजे जवाहर रंगमंच पर पुणे महाराष्ट्र से पधारे राष्ट्र संत गोविन्द देव गिरी (किशोर व्यास) के प्रवचन होंगे।

बैठक को सम्बोधित करते हुए मुंबई निवासी चार्टेट अकाउंटेड आनन्द राठी ने कहा कि किशोर जी व्यास का अजमेर की धरा पर प्रथम बार कार्यक्रम होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह मात्र कथा-प्रवचन का कार्यक्रम नहीं बल्कि जीवन को जीने की कला, वर्तमान परिपेक्ष्य में ग्रन्थों एवं वेदों की उपयोगिता के साथ युवा पीढी एवं शहर के प्रबुद्ध वर्ग के लिए उपयोगी, प्रेरणादायी सन्देश होगा। उपाध्यक्ष रामअवतार जाजू ने बताया कि यह व्याख्यान प्रबुद्ध जन, युवा पीढी विचारकों के साथ जन-जन के लिए उपयोगी है।

आज के इस तनाव, भागदौड के जीवन में यह व्याख्यान अति उपयोगी है। कोषाध्यक्ष अशोक कालानी ने बताया कि पूज्य किशोर जी व्यास देश-विदेश में कई बड़े घराने, प्रशासनिक, औद्योगिक, सामाजिक संगठनों में विश्वविद्यालयों के साथ प्रबुद्ध वर्ग को अपने उद्बोधन एवं मार्गदर्शन से लाभांवित कर चुके हैं।

अजमेर में भी जन-जन को महाराज के दर्शन-उद्बोधन एवं मार्गदर्शन का लाभ मिले इसके लिए अनुष्ठान किया जा रहा है। बैठक में दीनबन्धू चौधरी, रवि तोषनीवाल, एचएम जैन, हेमन्त शारदा हरि किशन अग्रवाल, विजय भूतड़ा, भगवती राठी, राम कुमार भूतडा, श्याम सुन्दर छापरवाल, रमेश तापडीया, सीए अजीत अग्रवाल, उमेश गर्ग, सूरज नारायण लखोटिया, श्रीवल्लभ महोश्वरी, घनश्याम सोमानी, माधवी स्टीफन्स जगदीश माहेश्वरी सहित अनेक श्रद्धालु एवं प्रबुद्धजन उपस्थित थे।