अजमेर : कलेक्ट्रेट पर लगा राष्ट्र ध्वज झुका, हर तरफ बस वाजपेयी की चर्चा

ajmer people mourns the death of atal bihari vajpayee
ajmer people mourns the death of atal bihari vajpayee

अजमेर। देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद घोषित शोक के चलते शुक्रवार को कलेक्ट्रेट परिसर समेत अन्य सरकारी इमारतों पर लगा तिरंगा आधा झुका रहा। वाजपेयी को श्रद्धांजलि स्वरूप उनके सम्मान में प्रदेश में सात दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है। 22 अगस्त तक राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहेंगे।

सरकारी कार्यालयों के साथ साथ कई निजी संस्थानों व स्कूलों में भी अवकाश घोषित किया गया। पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कई लोगों ने अपने-अपने व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रखने का फैसला किया।

अटलजी की स्मृति में कई स्थानों पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम रखे गए। वाजपेयी के निधन से गहरे दुख में डूबी जनता के दुख में शरीक होते हुए दरगाह के गद्दीनशीन एसएफ हसन चिश्ती ने कहा है कि वह बहुमुखी प्रतिभाओं के धनी थे साथ ही दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देश के जनप्रिय नेता रहे।

ख्वाजा की नगरी अजमेर मेंं दलगत राजनीति सेे ऊपर उठकर सभी राजनीतिक दलों के नेता भी शोकमग्न है। इतना ही नहीं यहां के एक एडवोकेट महेंद्र सिंह भाटी ने तो विधिवत सिर मुंडवाकर अटल जी के प्रति श्रद्धा एवं संवेदना व्यक्त की है। शहर कांग्रेस के अध्यक्ष विजय जैन ने वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि देश ने एक सकारात्मक सोच रखने वाला राजनीतिज्ञ खो दिया।

उन्होंने कहा कि भाजपा में वाजपेयी की पहचान कट्टारवादी नेता की न होकर एक उदारवादी नेता की थी। यही कारण है कि सभी लोग उनकी विचारधारा व कार्यशैली के लिए उनके कायल थे। इसी तरह सबगुरु न्यूज के अजमेर स्थित कार्यालय पर भी अटलजी को श्रद्धासुमन अर्पित कर भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी गई।

अटल जी के असामयिक निधन पर पलटन बाजार स्थित विजयवर्गीय धर्मशाला में सर्वदलीय श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।

गांधी भवन स्थित अजयमेरु प्रैस क्लब में भी अपराह्न श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस मौके पर वक्ताओं ने अजमेर से जुडी वाजपेयी की यादों को पत्रकार साथियों के बीच साझा किया। दैनिक भास्कर के संपादक रमेश अग्रवाल, क्ल्ब अध्यक्ष प्रताप सनकत, राजेन्द्र गुंजल, अतुल दुबे, सत्यनारायण जाला समेत बडी संख्या में पत्रकार तथा गणमान्यजन मौजूद रहे।

LIVE VIDEO : यूं आगे बढ रहा अटल सफर का अंतिम पडाव

LIVE VIDEO श्रद्धांजलि : अटल सत्य का अटल मिलन