कोरोना का खौफ : अजमेर दरगाह 31 मार्च तक आमजन के लिए बन्द


अजमेर। अजमेर जिले में कोरोन संक्रमण रोकने के लिए शुक्रवार को जिला प्रशासन ने कदम उठाते हुए ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह को आगामी 31 मार्च तक आमजन के लिए बन्द रखने का फैसला लिया है ताकि भीड़ भाड़ से बचा जा सके।

यह निर्णय शुक्रवार को दरगाह कमेटी एवं अंजुमन के पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में लिया गया। कलक्टर विश्व मोहन शर्मा ने बताया कि सार्वजनिक स्थलाें पर भीड़ भाड़ को रोकने के लिए राज्य सरकार के निर्देशानुसार पूरे जिले में धारा 144 लगायी गई है। उसी के तहत दरगाह को बन्द करने का निर्णय लिया गया है। जो आगामी 31 मार्च तक बन्द रहेगी। इस दौरान दरगाह की आवश्यक धार्मिक रस्मे पूरी की जाती रहेगी। इसके लिए अधिकतम 20 व्यक्तियों को दरगाह में जाने की अनुमति पुलिस विभाग द्वारा दी जाएगी।

कलक्टर ने बताया कि निकटवर्ती भीलवाड़ा एवं झुंझुनूं में कोरोना संक्रमण से स्थिति का काफी खराब हुई है। जिले में आमजन की जिन्दगी से बढ़कर और कुछ नहीं है। ऎसे में भीड़ भाड़ रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है। इसके लिए दरगाह में केवल निजाम गेट ही खुला रहेगा। शेष गेट बन्द रहेंगे। उन्होंने बताया कि बाहर के किसी भी जिले से अथवा विदेश से कोई भी मित्र या रिश्तेदार आने पर प्रत्येक व्यक्ति की सर्वप्रथम स्क्रीनिंग की जाएगी तथा वह सार्वजनिक स्थलों पर नहीं घूमे यह भी ध्यान रखा जाए।

बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा कि जिले में कोरोना संक्रमण फैले नहीं इसके लिए यह कदम उठाना जरूरी हो गया है। जिले के अन्य धार्मिक स्थल भी जहां अत्यधिक भीड़ रहती है वह भी बन्द हो गए हैं। वहां केवल धार्मिक रस्मे अदा की जा रही है।

रेस्टोरेंट में बैठकर भोजन नहीं कर सकेंगे

बैठक में कलक्टर ने बताया कि जिले के समस्त होटल एवं रेस्टोरेंट में कोई भी व्यक्ति बैठकर वहां भोजन नहीं कर सकेगा। इसके लिए वह वहां से भोजन पैक करवाकर अपने घर जाकर खाना खा सकेगा। उन्होंने होटल मालिकों से भी कहा है कि वे उनके होटल में यदि कोई विदेशी पर्यटक आकर ठहरता है तो उसकी स्क्रीनिंग करवाई जाए तथा उसकी सूचना संबंधित उपखण्ड अधिकारी को भी दी जाए। बैठक में बताया गया कि पुष्कर के सावित्री माता मन्दिर को भी संक्रमण रोकने के लिए बन्द कर दिया गया है।

इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर अरविंद कुमार सेंगवा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीआईडी जोन सुरेन्द्र कुमार भाटी, दरगाह दीवान के प्रतिनिधि एसएन चिश्ती, नाजीम शकिल अहमद, पुष्कर होटल एसोशिएसन के अध्यक्ष रघु पारीक, अंजुमन के अब्दुल जर्रार चिश्ती, सैयद मौहम्मद हुसैन, होटल एसोशिएसन अजमेर के अध्यक्ष अमित जैन सहित होटल मालिक, पुलिस, रेलवे, रोडवेज, यातायात एवं संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।