छत्तीसगढ के दुर्ग की घटना से अजमेर का सिन्धी समाज आक्रोशित

अजमेर। छतीसगढ के दुर्ग में सिन्धी युवकों को अमानवीय तरीके से पकडकर खुले आम हथकडी लगाकर बाजार में घुमाने की घटना व नवभारत के दुर्ग भिलाई संस्करण में 25 मार्च को प्रकाशित समाचार के प्रति आक्रोश जताते हुए सिन्धी समाज अजमेर ने शनिवार को मौन जुलूस निकाला।

दुर्ग की घटना को लेकर सिंधी समाज के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। संत महात्माओं के नेतृत्व में सिन्धी समाज की विभिन्न सामाजिक, धार्मिक व व्यवसायिक संगठनों के बैनर तले महिला व पुरूष कार्यकर्ताओं सुबह 10 बजे स्वामी कॉम्पलेक्स पर एकत्रित हुए। इसके बाद मौन जुलूस के रूप में कलेक्ट्रेट पहुंचे।

सिन्धी समाज महासमिति, भारतीय सिन्धु सभा, सिन्धु समिति अजमेर, सिंधी सेंट्रल महासमिति, अजयनगर सिन्धी समाज, वैशाली सिन्धी सेवा समिति, पूज्य सिन्धी पंचायत, पंचशाील, आदर्श सिन्धी पंचायत-आदर्श नगर, सिन्धी विकास समिति-चंद्रवरदायी नगर, सिन्धु सोसाइटी मदार, सिन्धु धारा संगीत समिति, झूलेलाल मन्दिर चौरसियावास रोड, हरिभाऊ उपाध्याय नगर विकास समिति, ईश्वर मनोहर उदासीन आश्रम, सिन्धी सोशल वेल्फेयर सोसाइटी मदार, नवयुवक सेवा मण्डल-आशागंज, पूज्य सिन्धी पंचायत-धोलाभाटा, सिन्धी सोशल वैलफेयर सोसाइटी, कोटडा हरिभाउ सिन्धी सेवा समिति, सिन्धी लेडिज क्लब अजमेर, मदार गेट, गांधी बाजार, अहाता मौहल्ला, झूला मौहल्ला, नया बाजार स्वर्णकार समाज सहित विभिन्न व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि जुलूस में शामिल रहे।

ज्ञापन सौंपने वालों में कंवल प्रकाश किशनानी, भगवान कलवाणी, गिरधर तेजवाणी, महेन्द्र कुमार तीर्थाणी, जगदीश अभिचंदाणी, हरी चंदनाणी, राधाकिशन आहूजा, जीडी वृदांणी, प्रकाश जेठरा, रमेश टिलवाणी, जोधा टेकचंदाणी, मोती जेठाणी, मोहन तुलसियाणी, नारायण सोनी, पार्षद मोहन लालवाणी, खेमचन्द नारवाणी, महेश टेकचंदाणी, मनीष ग्वालाणी,मोहन कोटवाणी, हरीश खेमाणी, विजय निचाणी, जयप्रकाश मंघाणी, दयाल नवलाणी,नरेश रावलाणी, भगवान पुरसवाणी, उतम गुरबक्षाणी, अश्वनी शास्त्री, महेश ईसराणी, घनश्याम भग्त, रमेश मेंघाणी, गीता राम मटाई, लाल नाथाणी,किशोर टेकवाणी, वासदेव सोनी, सहित विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता सम्मिलित थे।