विधायक अनंत सिंह न्यायालय में पेश, भेजे गए जेल

बाढ़। प्रतिबंधित हथियार एके 47 और ग्रेनेड बरामदगी मामले में दिल्ली के साकेत कोर्ट में समर्पण करने वाले बिहार के मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह को आज कड़ी सुरक्षा के बीच बाढ़ के अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी पीके तिवारी के समक्ष पेश किया गया, जहां से उन्हे पटना के बेऊर जेल भेज दिया गया।

इससे पूर्व विधायक सिंह को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पटना के जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा से सीधे बाढ़ ले जाया गया। रविवार होने के चलते कोर्ट के बंद रहने के कारण विधायक को बाढ़ के प्रभारी अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी पीके तिवारी की अदालत के समक्ष पेश किया गया। अदालत ने उन्हें 30 अगस्त तक की न्यायिक हिरासत में पटना के केन्द्रीय कारा बेऊर भेजने का आदेश दिया।

इसके बाद विधायक सिंह को पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) केके मिश्रा और अपर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के नेतृत्व में चाक-चौबंद सुरक्षा घेरे में पुलिस लेकर पटना के लिए रवाना हो गई।

इससे पहले अपर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के नेतृत्व में दिल्ली गई टीम विधायक सिंह को लेकर विमान से पटना के जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा पहुंची। इसके बाद उन्हें अभूतपूर्व सुरक्षा व्यवस्था के बीच स्टेट हैंगर दो के गेट से बाहर निकाला गया और स्कार्पियों से लेकर पटना पुलिस की विशेष टीम बाढ़ के लिए सड़क मार्ग से रवाना हुई। इस दौरान आम लोगों का प्रवेश हवाईअड्डा परिसर में रोक दिया गया, केवल विमान यात्रियों को ही विशेष तलाशी के बाद जाने दिया गया था।

आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि विधायक अनंत सिंह को बाढ़ ले जाने के क्रम में पटना से करीब 40 किलोमीटर की यात्रा के दौरान राष्ट्रीय उच्च पथ-30 के चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती की गई। इस दौरान संदिग्धों पर विशेष नजर रखी गई।

पुलिस ने इस वर्ष 16 अगस्त को बाढ़ अनुमंडल के लदमा गांव स्थित विधायक सिंह के पैतृक आवास पर छापेमारी की थी जहां से एक एके-47 रायफल और दो ग्रेनेड बरामद की गई थी। इस मामले में विधायक सिंह फरार चल रहे थे। पटना पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने के लिए कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस बीच, विधायक ने बिहार की पुलिस से जान को खतरा बताया था।

हथियार बरामदगी मामले में फरार चल रहे विधायक ने नई दिल्ली के साकेत कोर्ट में 23 अगस्त को आत्मसर्पण कर दिया, जिसके बाद उन्हें तिहाड़ जेल में रखा गया था। पटना से गई पुलिस की विशेष टीम ने शनिवार 24 अगस्त को साकेत कोर्ट में चार दिनों की ट्राजिंट रिमांड की अर्जी दी जिसे कोर्ट ने खारिज करते हुए निर्देश दिया था कि 48 घंटे के अंदर सिंह को बाढ़ के न्यायालय में पेश किया जाए।

सिंह को पटना से दिल्ली लाने गई पुलिस टीम का नेतृत्व बाढ़ की अपर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने किया। विधायक सिंह ने शुक्रवार की रात तिहाड़ जेल में काटी।