बड़ों की बात मानी होती तो आज अखिलेश यादव हाेते मुख्यमंत्री : शिवपाल

Akhilesh Yadav's Chief Minister today: Shivpal
Akhilesh Yadav’s Chief Minister today: Shivpal

बदायूँ । करीब दो साल पहले ‘यादव परिवार’ के रिश्तों में तल्खी की बात सार्वजनिक होने के बाद उत्तर प्रदेश की राजनीति में कुछ समय तक मची उठापटक की कसक आज भी समाजवादी पार्टी (सपा) के कद्दावर नेता शिवपाल यादव के जहन में ताजा है जिसका उदगार उन्होने शुक्रवार को यहां पत्रकारों के बीच किया।

पूर्व मंत्री ने कहा कि बडों की बात मानी होती तो सूबे में आज उनकी सरकार होती और अखिलेश यादव ही दोबारा मुख्यमंत्री होते। ककराला में चल रहे उर्स में शामिल होने के लिए बरेली से बदायूँ पहुंचे शिवपाल सिंह यादव ने पत्रकारों से कहा कि वह पार्टी के हित में सभी लोगों को एक रखना चाहते है और वह हमेशा से सपा के लिए समर्पित है।

उन्होने कहा कि अखिलेश यादव और धर्मेन्द्र यादव को उन्होंने गोदी में खिलाया,परवरिश की,पढ़ाया लिखाया यहां तक कि उनकी शादियाँ भी की,लेकिन युवा पीढ़ी अब किसी की नही सुनती है। उन्होंने कहा कि अगर बडों की बात मानी होती तो आज प्रदेश में समाजवादी की सरकार होती और अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री होते।

गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा “ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की सूझबूझ पर मै कोई सवाल नही उठाना चाहता। यदि पहले उन्होने हमारी बात मानी होती तो अखिलेश यादव दुबारा मुख्यमंत्री बने होते और बिहार में भी सपा सरकार बनी होती। इसलिए हमारी सभी स्तर के पदाधिकारियों के लिए यही सलाह है कि आपस में सभी एक रहे और लोगों को भी एक करें।”

उनके बदायूँ आने पर पार्टी के पदाधिकारियों और किसी भी पूर्व या मौजूदा विधायक के उपस्थित नहीं रहने के सवाल पर सपा नेता ने कहा “ यह तो मैं नही जानता कि वह लोग क्यों नही आये है जिसका मुझे कोई शिकवा नही है। मैं यहां अपने लिए एवं पार्टी हित के लिए आया हूँ। ”
बदायूँ से सांसद धर्मेंद्र यादव के संबंध में उन्होंने कहा “ उनकी पढ़ाई लिखाई से लेकर शादी तक हम लोगों ने करवाई है और परिवार में भी हमने अभी तक अच्छा ही किया है और हमेशा अच्छा ही करेंगे। धर्मेंद यादव के पिताजी हमारे साथ हैं,नेता जी मुलायम सिंह हमारे साथ हैं,अब यह युवा लोग पार्टी का भविष्य है और वह लोग जाने की उन्हें क्या करना है। ”