कानपुर में सड़क हादसे के शिकार सभी 17 मृतकों की शिनाख्त

कानपुर। उत्तर प्रदेश में कानपुर जिले के सचेंडी इलाके में मंगलवार रात एक मिनी बस और तिपाहिया सवारी वाहन (विक्रम) में भिड़ंत होने से मृत सभी 17 लोगों की शिनाख्त कर ली गई है। हादसे में घायल पांच लोगों में एक की हालत गंभीर बनी हुई है। मरने वालों में एक परिवार के तीन सगे भाई और दूसरे परिवार के दो सगे भाई शामिल है।

विक्रम में सवार ज्यादातर लोग एक बिस्कुट फैक्ट्री के कर्मचारी थे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बस का चालक शराब के नशे में था जिसको सवारियों ने रफ्तार पर नियंत्रण रखने की नसीहत दी थी मगर उसने बस की रफ्तार और बढा दी जबकि विक्रम टेम्पो का चालक शार्ट कट के चक्कर में गलत दिशा से वाहन ला रहा था। टेम्पो में करीब 21 यात्री सवार थे जिनमे से 17 की मौत हो गई।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे के शिकार लोगों के परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है जबकि घायलों के समुचित इलाज के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने घटना के कारणों की जांच रिपोर्ट जल्द दिये जाने के निर्देश दिये है। मोदी ने मृतकों के परिजनो को दो दो लाख रूपये और घायलो को 50-50 हजार रूपए देेने की घोषणा की है जबकि मुख्यमंत्री ने मृतक आश्रितों को दो दो लाख रूपए की राशि देने का एलान किया है।

मृतकों में गोलू परिहार (22),धनीराम (55), बलबीर सिंह यादव (50), सुरेन्द्र यादव (45),अनु सिंह (18), ज्ञानेन्द्र सिंह परिहार (50), धर्मराज सिंह (22), गौरव (18), राम मिलन (22), रजनीश (20), नन्हू पासवान (22), करन सिंह (35), राम मिलन (24) लवलेश (20), शिवचरन (20), उदय नारायण (55) और सुभाष (20) शामिल है। इनमें से 13 मृतक संचेडी थाना क्षेत्र के लालेपुर गांव के निवासी है वहीं चार इसी क्षेत्र के ईश्वरीगंज गांव के रहने वाले थे।

सभी घायलों का इलाज हैलट अस्पताल में किया जा रहा है। गौरतलब है कि मंगलवार देर रात संचेडी के किसान नगर क्षेत्र में मिनी बस और विक्रम के भिड़ंत हो गई थी। देर रात तक चले राहत और बचाव कार्य के बाद दुर्घटनाग्रस्त वाहनों को सड़क के किनारे कर लिया गया है जिससे यातायात बहाल हो गया है।