भारत ने इंग्लैंड से दूसरा टी 20 जीता, सीरीज पर भी कब्ज़ा

बर्मिंघम। रवींद्र जडेजा की नाबाद 46 रन की बेहतरीन पारी और भुवनेश्वर कुमार (15 रन पर तीन विकेट) की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन से भारत ने इंग्लैंड को दूसरे टी 20 मैच में शनिवार को 49 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अपराजेय बढ़त बना ली।

भारत ने 20 ओवर में आठ विकेट पर 170 रन बनाए और इंग्लैंड को 17 ओवर में 121 रन पर ढेर कर दिया। भारत ने पहला मैच 50 रन से जीता था। भुवनेश्वर ने पहली गेंद पर जैसन रॉय को स्लिप में कप्तान रोहित शर्मा के हाथों कैच कराया।

इस विकेट के गिरने के बाद इंग्लैंड की टीम संभल नहीं पाई और उसने नियमित अंतराल में अपने विकेट गंवाए। मेजबान टीम 17 ओवर में सिमट गई। जसप्रीत बुमराह ने 10 रन पर दो विकेट और युजवेंद्र चहल ने 10 रन पर दो विकेट लिए जबकि हार्दिक पांड्या और हर्षल पटेल को एक-एक विकेट मिला।

इस मैच के लिए विराट कोहली, ऋषभ पंत, रवींद्र जडेजा और जसप्रीत बुमराह प्लेइंग एकादश में आये लेकिन बल्लेबाजी में जडेजा के अलावा अन्य कोई नहीं चल पाया। जडेजा ने 29 गेंदों में पांच चौकों की मदद से नाबाद 46 रन बनाए। कप्तान रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग करने उतरे ऋषभ पंत। दोनों ने टीम को पॉवरप्ले में 49 रन की जोरदार शुरआत दी।

रोहित ने 20 गेंदों पर 31 रन में तीन चौके और दो छक्के लगाए लेकिन उनका विकेट गिरने के बाद भारतीय पारी में कोई बड़ी साझेदारी नहीं हो पाई। रोहित के आउट होने के बाद विराट कोहली एक रन बनाकर पवेलियन लौट गए। विराट की खराब फॉर्म इस मैच में भी बरकरार रही और वह पदार्पण मैच खेल रहे रिचर्ड ग्लीसन का शिकार बन गए।

ग्लीसन ने इससे पहले रोहित को भी आउट किया था। विराट को आउट करने के बाद ग्लीसन ने पंत का भी शिकार कर लिया। पंत ने 15 गेंदों पर 26 रन में चार चौके और एक छक्का लगाया।

सूर्यकुमार यादव 11 गेंदों में 15 और पिछले मैच के हीरो हार्दिक पांड्या 15 गेंदों में 12 रन बनाकर आउट हुए। भारत के पांच विकेट 89 रन पर गिर चुके थे। इस स्थिति में जडेजा ने मोर्चा संभाला और 29 गेंदों में नाबाद 46 रन बनाकर टीम को 170 के लड़ने लायक स्कोर तक पहुंचाया। दिनेश कार्तिक 17 गेंदों में 12 रन बनाकर रन आउट हुए जबकि हर्षल पटेल ने छह गेंदों में 13 रन बनाए।

अच्छी शुरुआत करने के बाद भारत का शीर्षक्रम और मध्यक्रम फेल रहा, जिस कारण एक समय लग रहा था कि 160 तक पहुंचना मुश्किल होगा। लोअर ऑर्डर में आकर जडेजा ने अपना काम करते हुए 29 गेंदों में नाबाद 46 रन बनाकर भारत को 170 के स्कोर पर पहुंचा दिया। इंग्लैंड की तरफ से क्रिस जॉर्डन ने 27 रन पर चार विकेट और ग्लीसन ने 15 रन देकर तीन विकेट लिए। ग्लीसन ने एक ओवर मैडन भी डाला।

भुवनेश्वर अपनी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच बने। भारत ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ लगातार चौथी टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ अपने नाम कर ली है, वो भी एक मैच के रहते ही। क्या शानदार गेंदबाज़ी की भारतीय गेंदबाज़ों ने, पहले पावरप्ले में अपना दबदबा बनाए रखा और फिर मिडिल ओवरों में भी अपनी पकड़ नहीं छूटने दी। भुवनेश्वर और बुमराह ने पावरप्ले में ही इंग्लैंड की कमर तोड़ थी।

भुवनेश्वर ने रॉय को आउट करने के अलावा कप्तान जोस बटलर को विकेटकीपर पंत के हाथों कैच कराया। बटलर चार रन ही बना सके। भुवी ने निचले क्रम में ग्लीसन को विराट के हाथों कैच कराया। बुमराह ने लियाम लिविंग्स्टन और सैम करेन को पवेलियन का रास्ता दिखाया। लिविंग्स्टन ने 15 रन बनाए। चहल ने डेविड मलान और हैरी ब्रूक का शिकार किया।

इंग्लैंड की तरफ से मोईन अली ने 21 गेंदों में सर्वाधिक 35 रन बनाए। अली को हार्दिक पांड्या ने आउट किया। हर्षल पटेल ने मैट पार्किंसन को बोल्ड कर इंग्लैंड की पारी समेट दी। डेविड विली 22 गेंदों में 33 रन बनाकर नाबाद रहे। क्रिस जॉर्डन एक रन बनाकर रन आउट हुए।