इलाहाबाद यूनिवर्सिटी उपद्रव में 410 छात्रों कें खिलाफ रिपोर्ट दर्ज, 11 को भेजा जेल

Allahabad University violence: FIR against 410 students, 11 sent to jail

इलाहाबाद। पूरब का आक्सफोर्ड कहा जाने वाला इलाहाबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय में हास्टल वॉशआउट को लेकर हुए उपद्रव के बाद अब परिसर में शांति कायम है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने 11 जून तक छात्रों से हास्टल खाली करने के लिए कहा था। इस दौरान हास्टल में रहने वाले छात्रों से यह कहा गया था कि वे स्वेच्छा से अपने कमरे खाली कर छात्रावास अधीक्षक को चाबी सौंप दें। उसके बाद विश्वविद्यालय प्रशासन 12 से 15 जून तक अभियान चलाकर हास्टल खाली कराएगा।

उन्होंने बताया कि इसी बात को लेकर कल विश्वविद्यालय के छात्रों ने उपद्रव शुरू कर दिया। उपद्रवी छात्रों ने पुलिस की एक जीप, मोटरसाइकिल फूंक दी। एक राजकीय परिवहन निगम की बस में भी आग लगा दी थी लेकिन उसे समय रहते बुझा दिया गया।

इस मामले में रात में ही 410 छात्रों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर 11 छात्रों को गिरफ्तार कर अलग-अलग जिलों में जेल भेज दिया गया। आगजनी करने वाले छात्रों की पहचान की जा रही है।

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय परिसर में अब शांति बहाल है। एहतियातन इविवि में सुरक्षा को लेकर व्यवस्था सख्त की गयी है। सुरक्षाकर्मियों को चौकन्ना रहने की हिदायत दी गई है।

गौरतलब है कि कल छात्रों के हिंसक प्रदर्शन, बमबाजी, तोड़फोड़ और आगजनी के बाद जिला प्रशासन के साथ बैठक कर छात्रों से हास्टल वॉशआउट कराने का फैसला विश्वविद्यालय प्रशासन को स्थगित करना पडा।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने जून में प्रतियोगी परिक्षाएं होने का हवाला देते हुए कहा कि प्रतियोगी परिक्षाओं में बहुत से अन्त:वासी सम्मलित होगें इसलिए अगले आदेश तक हास्टल वॉशआउट का फैसला स्थगित किया जाता है।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रों ने किया बवाल, फूंकी जीप और मोटरसाइकिल