अलवर नगर परिषद के पार्षद कपिल राज शर्मा की सड़क दुर्घटना में मौत

अलवर। अलवर नगर परिषद के कांग्रेस के युवा पार्षद कपिल राज शर्मा (35) की आज सड़क दुर्घटना में मौत हो गई।

पुलिस उपाधीक्षक हरिराम ने बताया कि नगर परिषद अलवर के वार्ड नंबर 41 के पार्षद कपिल राज शर्मा केसरोली के पास अपनी फैक्ट्री से दाेपहर में मोटरसाइकिल से आ रहे थे कि दिवाकरी मोड़ के पास सामने से आ रहे वाहन ने मोटरसाइकिल में टक्कर मार दी, जिससे वह सड़क पर गिर गए।

सिर के बल गिरने पर उन्हें गंभीर चोट आई। उन्हें तुरंत अलवर के सामान्य अस्पताल लाया गया। जहां उपचार के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

पार्षद की मौत की सूचना के बाद अलवर नगर परिषद के चेयरमैन अशोक खन्ना, उपसभापति शशि तिवारी, प्रतिपक्ष के नेता नरेंद्र मीणा, पार्षद घनश्याम गुर्जर, अजय पूनिया सहित दो दर्जन से अधिक पार्षद, कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता नगर विकास न्यास के पूर्व चेयरमैन प्रदीप आर्य, कांग्रेस की वरिष्ठ नेता श्वेता सैनी सहित कई जनप्रतिनिधि अलवर के सामान्य अस्पताल पहुंचे।

उधर, सूत्रों ने बताया कि दिवंगत शर्मा दुर्घटना के बाद सड़क पर करीब आधा घंटा तक छटपटाते रहे। उन्हें किसी ने अस्पताल नहीं पहुंचाया। अगर समय पर उपचार मिल जाता तो संभवत उनकी जान बच सकती थी। जिस सड़क पर दुर्घटना हुई उस सड़क को चौड़ा करने की मांग दिवंगत शर्मा लम्बे समय तक उठाते रहे।

पार्षद कपिल राज शर्मा के निधन पर सभापति सहित कई पार्षदों और कांग्रेस के नेताओं ने संवेदना व्यक्त की है। नगर परिषद के चेयरमैन अशोक खन्ना ने कहा कि पार्षद साथी का अचानक जाना दुखद घटना है और वह जनहित के मामलों को बड़ी संजीदगी से उठाते थे।

प्रतिपक्ष के नेता नरेंद्र मीणा ने बताया कि कपिल राज शर्मा अलवर की जनता का आवाज बन चुके थे और उन्होंने जनहित के मुद्दों को लेकर पिछले वर्ष धरना दिया था और वह जनहित के मुद्दों को हमेशा सदन में उठाने के लिए जाने जाते हैं।

पार्षद नारायण साईंवाल ने बताया कि पार्षद और कपिल राज शर्मा ने हनुमान चौराहे से रामगढ़ तक इस मार्ग को फोरलेन करने की मांग हमेशा उठाई थी और कहा था कि इस रोड पर आए दिन दुर्घटनाएं होती हैं जिससे लोगों की मौत हो रही हैं, लेकिन प्रशासन ने कभी सुनाई नहीं की सरकार ने इसका बजट भी पास कर दिया था।