अमित शाह का सीएए को लेकर विपक्ष पर भ्रम फैलाकर दंगा भड़काने का आरोप

भुवनेश्वर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विपक्षी दलों पर शुक्रवार को हमला करते जनता में भ्रांति और उकसा कर दंगे फैलाने का आरोप लगाते हुए एक बार फिर दोहराया कि नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) से देश के एक भी मुसलमान, एक भी अल्पसंख्यक की नागरिकता को आंच नहीं आएगी।

सीएए को लेकर दिल्ली के उत्तर-पूर्वी हिस्से में इसी सप्ताह भड़के भयानक दंगों के बीच यहां जन समावेश रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि मैं देश की जनता से कहना चाहता हूं कि ये विपक्ष के लोग सीएए को लेकर भ्रांति फैला रहे हैं, लोगों को उकसा रहे हैं, दंगे करा रहे हैं।

कांग्रेस, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के विरोध करने पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस, ममता दीदी, सपा, बसपा ये सारे लोग सीएए विरोध कर रहे हैं। ये कह रहे हैं कि इससे अल्पसंख्यकों के अधिकार चले जाएंगे। अरे इतना झूठ क्यों बोलते हो। मैं आज फिर से यहां कहना चाहता हूं कि सीएए से देश के एक भी मुसलमान, एक भी अल्पसंख्यक का नागरिकता अधिकार नहीं जाने वाला है। सीएए नागरिकता लेने का कनून है ही नहीं, बल्कि नागरिकता देने का कानून है।

उन्होंने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार पूर्व का पिछड़ा क्षेत्र और विशेषकर उत्कल राज्य सबसे अच्छा राज्य बने इस दिशा में कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि मैं आपको मोदी जी के प्रतिनिधि के नाते विश्वास दिलाने आया हूं कि पूर्व का पिछड़ा क्षेत्र और विशेषकर ये उत्कल राज्य सबसे अच्छा राज्य बने, इस दिशा में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

गृह मंत्री ने कहा कि मोदी अपने दूसरे कार्यकाल में एक बहुत बड़ी योजना लाए हैं जिसके तहत 20124 तक देश के हर घर में नल से स्वच्छ पीने का पानी पहुंचाना है। इस योजना का सबसे बड़ा फायदा अगर किसी राज्य को होने वाला है तो वह ओड़िशा है।

शाह ने कहा कि वह ओड़िशा की जनता से कहना चाहते हैं कि पांच साल तक भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष रहे और इस दौरान कई बार यहां आए और यहां के अनेक नगरों में घूमे हैं और कार्यकर्ताओं से मिले हैं। ओड़िशा कभी भी मुझे गुजरात से अलग नहीं लगा, मुझे अपना दूसरा घर लगा।

उन्होंने कहा कि पिछले साल हुए आम चुनाव के बाद वह पहली बार यहां आए हैं। चुनाव में भाजपा को राज्य में आठ सीटों पर विजय दिलाने और पार्टी के पक्ष में मत प्रतिशत 21 प्रतिशत से बढ़ाकर 38.4 प्रतिशत होने के लिए लोगों को धन्यवाद करते हुए शाह ने कहा कि इतने वर्षों की यात्रा में यहां कांग्रेस पार्टी पहली बार मुख्य विपक्षी दल से नीचे उतरी और भाजपा का कार्यकर्ता आज विधानसभा में विपक्ष के नेता के रुप में ओड़िशा की जनता की आवाज बना है।

इससे पहले अमित शाह ने चार पूर्वी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता की जिसमें ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने केंद्र से पूर्वी क्षेत्र के इन राज्यों के लिए विशेष आर्थिक पैकेज देने का अनुरोध किया था।