सामाजिक पुनर्जागरण लाने में जुटीं अमायरा दस्तूर

Amyra Dastur in bringing social renaissance
Amyra Dastur in bringing social renaissance

मुंबई । बॉलीवुड के सितारे अगर लोगों का मनोरंजन करते हैं, तो सामाजिक सरोकारों से भी खुद को जोड़े रखते हैं। इससे साबित होता है कि वे भी संवेदनशील हैं। एक दूसरे के प्रति ही नहीं, पर्यावरण को लेकर भी वे अपनी जिम्मेदारी समझते हैं। अभिनेत्री अमायरा दस्तूर भी सामाजिक पुनर्जागरण लाने और दुनिया को सुंदर रूप देने के लिए समर्पण से काम कर रही हैं। समाज और पर्यावरण के लिए काम करने की उनके जिम्मेदारी सराहना के योग्य है।

अमायरा नहीं बोल सकने वाली प्रजातियों का बचाव और पोषण करने वाले ‘वर्ल्ड ऑफ एनिमल्स’ नामक एक गैर-लाभकारी संगठन के साथ जुड़़ी हैं। एक अन्य विषय जिस पर लंबे समय से अमायरा का ध्यान है, वह खाद्य अपव्यय का मुद्दा भी है। हालांकि हर व्यक्ति यह जानता है कि बड़े पैमाने पर भोजन बर्बाद हो रहा है। अमायरा का लक्ष्य इस समस्या से भी निपटना है। इसके लिए वह कई खाद्य ब्रांडों से जुड़ी हैं।

खाद्य ब्रांड खाद्य पदार्थों के ढेर को बर्बाद कर देते हैं क्योंकि वे अगले दिन के लिए फिर से उपयोग नहीं कर सकते हैं। दूसरी ओर, गरीब पौष्टिक भोजन नहीं खरीद पाते। अमायरा का इरादा इन दोनों के साथ जुड़ना है और जरूरत के हिसाब से एक संतुलन बनाना है। अमायरा पहले से ही विभिन्न ब्रांडों और संस्थाओं के साथ विलय करके इस पहल की दिशा में कदम उठा रही हैं। अमायरा दस्तूर ‘राजमा चावल’ और कंगना रनौत और राजकुमार राव की ‘मेंटल है क्या’ जैसी फिल्मों में भूमिका निभाते हुए नजर आएंगी।