अजमेर के 2.21 लाख बच्चों को मिलेगा सप्ताह में तीन दिन दूध

annapurna milk scheme launches in ajmer
annapurna milk scheme launches in ajmer

अजमेर। सामान्य प्रशासन विभाग मंत्री हेम सिंह भडाणा तथा जिले के जनप्रतिनिधियों ने सोमवार को राजकीय सावित्री बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में अन्नपूर्णा दूध योजना का शुभारंभ किया। योजना के तहत अजमेर जिले में कक्षा एक से आठ तक के 2 लाख 21 हजार 25 बच्चों को सप्ताह में तीन दिन मिड डे मील के साथ दूध दिया जाएगा।

इस अवसर पर भडाणा ने कहा कि स्वस्थ जीवन मानव विकास की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी है। राज्य सरकार ने राजस्थान के स्कूली बच्चों को बाल्यकाल से ही स्वस्थ एवं सुडौल बनाने के लिए पौष्टिक भोजन के साथ ही दूध देने की अभिनव शुरुआत की है। यह शुरुआत प्रदेश की भावी पीढ़ी के स्वास्थ्य के लिए मील का पत्थर साबित होगी।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे चाहती हैं कि प्रदेश का हर बच्चा स्वस्थ हो। इसके लिए मिड डे मील योजना के तहत आठवीं तक के बच्चों को दूध देने की शुरुआत की गई है। यह योजना प्रदेश की भावी पीढ़ी को स्वस्थ रखने की दिशा में ऐतिहासिक कदम है। शिक्षा के साथ ही बच्चों को पौष्टिक भोजन व दूध भी दिया जा रहा है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला प्रमुख वंदना नोगिया ने कहा कि मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुसार प्रदेश का हर परिवार, समाज के बच्चों का सर्वागींण विकास हो, इसी मंशा से यह कार्यक्रम चलाया गया है। जिस प्रकार शिक्षा में गुणवत्ता पूर्ण कार्य हो रहा है उसी प्रकार मिड डे मिल के साथ दूध को शामिल कर पोषाहार को पोष्टिक एवं गुणवत्तापूर्ण बनाया गया है। ताकि हर बच्चा स्वस्थ रहें।

प्रारंभ में जिला शिक्षा अधिकारी (प्राशि) श्यामलाल सांगावत ने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों को सप्ताह में तीन दिन मिड डे मिल पोषाहार के साथ दूध का गिलास भी मिलेगा। पहली से पांचवीं तक के बच्चों को 150 एमएल तथा छठी से आठवीं के बच्चों को 200 एमएल दूध मिलेगा। बच्चों को दूध वितरण के लिए लेक्टोमीटर से जांच की जाएगी तत्पश्चात दूध वितरण होगा। इसके लिए समस्त संसाधन विद्यालयों को उपलब्ध करवा दिए गए हैं।

अजमेर जिले में एक हजार 835 राजकीय विद्यालय एवं 53 मदरसों में 2 लाख 21 हजार 25 बच्चों को अन्नपूर्णा दूध योजना के तहत दूध का वितरण होगा। जिले में पहली से 5वीं तक के एक लाख 37 हजार 581 तथा छठी से आठवीं तक के 83 हजार 444 बच्चों को कार्यक्रम का लाभ मिलेगा।

इस अवसर पर प्रभारी मंत्री सहित समस्त अतिथियों ने अपने हाथों से बच्चों को दूध पिलाकर योजना का शुभारंभ किया। इस अवसर पर अजमेर विकास प्राधिकरण अध्यक्ष शिव शंकर हेड़ा, महापौर धर्मेंद्र गहलोत, अजमेर डेयरी अध्यक्ष रामचंद्र चौधरी, कलक्टर आरती डोगरा, बीपी सारस्वत, अरविंद यादव, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की सचिव मेघना चैधरी, उप निदेशक (प्राशि) जीवराज जाट सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।