कांग्रेस शहरों से लेकर गांव तक जा रही है सिमटती : सतीश पूनियां

जोधपुर। राजस्थान के भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा सतीश पूनियां ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर कानून व्यवस्था बिगड़ने एवं किसान कर्ज माफी, भर्तियां, बेरोजगारी भत्ता आदि मुद्दों से किसानों और युवाओं से वादाखिलाफी करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इस कारण कांग्रेस प्रदेश में शहरों से लेकर गांव तक सिमटती जा रही है।

डा पूनियां जोधपुर जिले के बिलाड़ा में भाजपा प्रधान प्रगति कुमारी के पदभार ग्रहण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आज यह बात कही। उन्होंने कहा कि जनविरोधी गहलोत सरकार का वर्ष 2023 में प्रदेश की जनता सूपड़ा साफ कर देगी, जिसकी शुरुआत पंचायतीराज चुनाव से हो चुकी है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का वैभव कमजोर हो रहा है, भाजपा प्रगति कर रही हैl इस बार हुये छह जिला परिषद चुनाव में भाजपा ने तीन जिला प्रमुख बोर्ड बनाए और पिछली बार भी 21 में से 14 जिलों में भाजपा जिला प्रमुख बोर्ड बनाने में सफल रही, पूरे प्रदेश में कांग्रेस शहरों से लेकर गांव तक सिमटती जा रही है ।

उन्होंने कहा कि किसान कर्ज माफी, भर्तियां, बेरोजगारी भत्ता आदि मुद्दों को लेकर गहलोत सरकार ने किसानों और युवाओं से वादाखिलाफी की, विश्वासघात किया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कहीं भी बहन बेटियां सुरक्षित नहीं हैं, जयपुर के एक थाने में थानेदार की गाड़ी के टायर चोरी हो गए, यह प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति हैl प्रदेश में दलित, आदिवासी कोई भी सुरक्षित नहीं है। टोंक जिले के मालपुरा और अलवर-भरतपुर में बहुसंख्यक हिंदू आबादी भय के माहौल में जी रही है, आये दिन प्रताड़ना के मामले सामने आ रहे हैं, जमीनों पर कब्जे करने के मामले भी सामने आ रहे हैं।

डा पूनियां ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार किसानों, युवाओं, गरीबों, महिलाओं के लिए जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है।

मैं जनता के हाल चाल पूछने आया हूं

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डा सतीश पूनियां ने चुटकी लेते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पिछले दो वर्ष से जोधपुर नहीं आए, इसलिए मैं जनता के हाल चाल पूछने के लिए जोधपुर आया हूं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता मेरे जोधपुर दौरे को लेकर कह रहे थे कि जोधपुर क्यों जा रहे हैं तो मैंने कहा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी पिछले दो सालों से ना जोधपुर गए और ना ही प्रदेश के दौरे पर जा रहे हैं और ना जनता के हाल-चाल जान रहे हैं। तो मुझे लगा कि जोधपुर जाकर वहां की जनता के हाल-चाल जानूं, इसलिए मैं जोधपुर की जनता से मिलने आ गया, उनके हालचाल पूछने आ गया। उन्होंने कहा कि मिश्रीलालजी के पेड़े और चतुर्भुजजी के रसगुल्ले जोधपुर से ले जाकर मुख्यमंत्रीजी को जयपुर दे दूंगा, क्योंकि वह पिछले दो सालों से जोधपुर नहीं आ रहे हैं।