चित्तौड़गढ़ : गिरफ्तार वाहन चोर निकले कोरोना संक्रमित, पुलिस में मचा हड़कम्प

चित्तौड़गढ़। राजस्थान में चित्तौड़गढ़ शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र में पुलिस हिरासत में चल रहे दो वाहन चोरों की रिपोर्ट कोरोना संक्रमित आने के बाद हड़कम्प मच गया और पुलिस सकते में आ गई।

जिला पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने बताया कि गत 29 मई को वाहन चोरी के आरोप में भीलवाड़ा जिले के हमीरगढ़ थानांतर्गत ओज्याड़ा गांव निवासी दो भाईयों को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनका मेडिकल करवाया जिसमें उनकी कोरोना सेम्पलिंग भी करवाई गई थी। पुलिस इन चोरों को न्यायालय में पेश कर वारंट लेकर थाने ले आई थी जिनकी आज आई रिपोर्ट में दोनों कोरोना संक्रमित पाए गए।

इस सूचना के बाद इन चोरों के सम्पर्क में आने वाले विशेष टीम के प्रभारी निरीक्षक शिवलाल मीणा व कोतवाली थाना प्रभारी तुलसीराम सहित कुल 44 पुलिसकर्मिर्यों की सेम्पलिंग करवाने के साथ कोतवाल के अलावा अन्य सभी को संस्थागत कोरंटाईन करवाया गया है। सम्पूर्ण कोतवाली स्टाॅफ को हटाकर वहां नया स्टाॅफ लगाया जा रहा है। सूचना के बाद कोतवाली परिसर को सैनेटाईज करवाया गया है जो लगातार तीन दिन तक जारी रहेगा।

उन्होंने बताया कि कोतवाली थाना आमजन के लिए खुला रहेगा लेकिन यहां आने वाले प्रत्येक आगुंतक को मास्क बिना प्रवेश नहीं दिया जाएगा साथ ही कोतवाली के मुख्य द्वार पर एक सिपाही आने जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति को सैनेटाईज करेगा।

इधर, कलेक्टर द्वारा जारी कोरोना बुलेटिन में भदेसर उपखंड के ग्राम खोड़ीप निवासी तीन लोगों के कोरोना संक्रमित पाए जाने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि यह तीनों गत दिनों महाराष्ट्र से अपने गांव आए थे और आते ही उन्हें होम कोरंटाईन किया हुआ था।

फिर भी एहतियातन इनके परिजनों एवं अन्य के सम्पर्क में आने वालों की सूची बनाकर उनकी सेम्पलिंग करने के साथ गांव को सैनेटाईज किया जा रहा है और क्षेत्र में जीरो माबिलिटी लागू कर दी गई है। अब जिले में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 181 हो गई है जिनमें से चार की मौत हो गई है।