भाजयुमो का केजरीवाल के आवास पर हमला : मनीष सिसोदिया

नई दिल्ली। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के आवास पर भारतीय जनता पार्टी के गुंडों ने हमला किया जबकि पुलिस ने मुख्यमंत्री आवास की घेराबंदी करने के प्रयास के दौरान सीसीटीवी कैमरे और सुरक्षा बैरियर क्षतिग्रस्त करने के आरोप में लगभग 70 लोगों को हिरासत में लिया है।

सिसोदिया ने इस हमले के लिए असामाजिक तत्वों को दोषी ठहराया और आरोप लगाया कि यह पंजाब में भाजपा की हार के बाद केजरीवाल की हत्या करने की साजिश का ही यह प्रयास है। उनके आरोपों का आप नेता सत्येंद्र जैन, आतिशी मर्लेना सहित दिल्ली के कई मंत्रियों और विधायकों ने भी समर्थन किया है। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने भी कहा है कि यह केजरीवाल पर हमले का एक प्रयास है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि भाजपा की युवा शाखा के नेताओं के नेतृत्व में अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर असामान्य घटनाएं देखने के बाद कानूनी कार्रवाई शुरू की गई है।

दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली विधानसभा में ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म को लेकर केजरीवाल द्वारा की गई टिप्पणी के खिलाफ आईपी कॉलेज के पास लिंक रोड पर मुख्यमंत्री आवास के बाहर भारतीय जनता युवा मोर्चा के लगभग 150-200 प्रदर्शनकारियों ने धरना शुरू कर दिया।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक दोपहर बाद करीब एक बजे कुछ प्रदर्शनकारियों ने दो बैरिकेड तोड़ दिए और मुख्यमंत्री आवास के बाहर पहुंच गए जहां उन्होंने हंगामा किया और नारेबाजी की।

इस बीच, प्रदर्शनकारी पेंट का एक छोटा सा बॉक्स ले जा रहे थे जिसे उन्होंने दरवाजे के बाहर फेंक दिया। दिल्ली पुलिस ने कहा कि इस गतिरोध में एक सुरक्षा बैरियर के साथ-साथ एक सीसीटीवी कैमरा भी क्षतिग्रस्त पाया गया।

भाजयुमो के कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल के आवास पर हमला किया और यह सब तब हुआ, जब भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या और दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा, विवेक अग्निहोत्री के निर्देशन में बनी फिल्म द कश्मीर फाइल्स को लेकर केजरीवाल के पिछले हफ्ते के दिए गए बयान के विरोध में प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे थे।

गौरतलब है कि केजरीवाल ने फिल्म को बढ़ावा देने के लिए भाजपा नेताओं की खिंचाई की थी और एक ‘झूठी फिल्म’ के पोस्टर नहीं लगाने के लिए कहा था। उन्होंने दावा किया था कि फिल्म निर्माता कश्मीरी पंडितों की पीड़ा का उपयोग करके धन कमा रहे हैं।

उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ-साथ दिल्ली के कई अन्य मंत्रियों और विधायकों ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि भारतीय जनता युवा मोर्चा के सदस्यों ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर तोड़फोड़ की। उन्होंने इसे केजरीवाल की हत्या करने की साजिश करार देते हुए कहा कि हाल में पंजाब विधानसभा चुनावों में मिली हार से भाजपा सकते में है।

सिसोदिया ने ट्वीट किया कि असामाजिक तत्वों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर हमला किया। उन्होंने सीसीटीवी कैमरे और सुरक्षा बैरियर तोड़ दिए। गेट पर बूम बैरियर भी टूट गए हैं।

सिसोदिया ने आरोप लगाया कि भाजपा के गुंडे केजरीवाल के घर में तोड़फोड़ करते रहे। भाजपा पुलिस उन्हें रोकने के बजाय घर के दरवाजे तक ले आई। उन्होंने इसे पूर्वनियोजित कदम करार देते हुए आरोप लगाया कि चूंकि भाजपा अरविंद केजरीवाल को हराने में विफल रही है, इसलिए वे उन्हें मारने की कोशिश कर रहे हैं।

भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या और दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने दिल्ली विधानसभा में फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर केजरीवाल के बयान के खिलाफ आयोजित विरोध का नेतृत्व किया। इस घटना को लेकर सोशल मीडिया सहित विभिन्न मंचों पर जोरदार चर्चा हो रही है।

तेजस्वी ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि केजरीवाल को लगता है कि एक खास समुदाय को खुश करने के लिए हिंदुओं की आस्था को बार-बार आहत करने से उन्हें बख्श दिया जाएगा। देश के जागरुक युवा अब ऐसा नहीं होने देंगे। भाजयुमो सुनिश्चित करेगा कि केजरीवाल इस बयान के लिए भविष्य में भारी राजनीतिक कीमत चुकाएं।

आम आदमी पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल में भाजपा पर केजरीवाल के आवास में तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया गया। ट्वीट में कहा गया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर भाजपा ने किया हमला! सुरक्षा बाधाएं टूटीं, सीसीटीवी कैमरा भी टूटे तथा गेट को भाजपा की दिल्ली पुलिस के पूरे समर्थन के साथ तोड़ दिया गया। सभी कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास की मांग के लिए?

सिसोदिया ने ट्वीट किया कि भाजपा के गुंडे सीएम आवास में तोड़फोड़ करते रहे, रोकने की बजाय भाजपा की पुलिस उन्हें घर के दरवाजे तक ले आई। आप विधायक आतिशी मर्लेना ने कहा कि चौंकाने वाला! क्या चौंकाने वाला था? दिल्ली पुलिस क्या कर रही थी, जब भाजपा के कार्यकर्ता और नेता मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हंगामा कर रहे थे? क्या उन्हें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कार्यालय से भाजपा के गुंडों का समर्थन करने का आदेश मिला था?

केजरीवाल के खिलाफ पिछले हफ्ते दिल्ली विधानसभा में उनके उस बयान के लिए आज विरोध प्रदर्शन किया गया जिसमें उन्होंने ‘कश्मीरी पंडितों के जनसंहार’ को अग्निहोत्री की फिल्म में ‘झूठा’ ठहराया था।

केजरीवाल ने अपने भाषण में ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर राजनीति करने के लिए भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने फिल्म निर्माता को यह भी सुझाव दिया कि फिल्म को टैक्स फ्री करने लिए कहने के बजाय फिल्म को सभी के देखने के लिए यू-ट्यूब पर मुफ्त में अपलोड करना चाहिए।