सजा के भय से तनाव में रहे आसाराम बापू, बैचेनी में कटी रात

Asaram rape case verdict : Security beefed up in Jodhpur; jail to be sealed on day of judgmentजोधपुर। राजस्थान के जोधपुर केंद्रीय कारागार में लगभग पौने पांच साल से बंद नाबालिग से यौन शोषण के आरोपी कथावाचक आसाराम की बुधवार की दिनचर्या सामान्य रही हालांकि उनके चेहरे पर तनाव देखा गया।

कारागार के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आसाराम सवेरे आम दिनों की अपेक्षा जल्दी उठे और रात भर बैचेनी में रहे। उनके चेहरे पर सजा का भय बना रहा। आसाराम आज सवेरे चार बजे उठे और आम दिनों की तरह उन्होंने आज किसी तरह का व्यायाम नही किया।

बताया जाता है कि आसाराम सवेरे जल्दी उठे और दैनिक क्रिया से फारिग होकर पूजा अर्चना की। पूजा अर्चना के दौरान वह काफी तनाव में देखे गए और उनके चेहरे पर सजा का भय के साथ मायूसी देखी गई।

जोधपुर उच्च न्यायालय ने राजस्थान पुलिस की गुहार पर मामले का फैसला जेल में ही अदालत लगाकर करने का आदेश दिया था। इसके तहत आज जेल में ही अस्थाई अदालत लगाई गई है।

एसटीएससी कोर्ट के पीठासीन अधिकारी मधुसुदन शर्मा ने मामले की सुनवाई पूरी करते हुए सात अप्रेल को फैसला सुरक्षित रखते हुए 25 अप्रेल को अंतिम निर्णय सुनाने के आदेश दिए थे।