अजमेर में आशा सहयोगिनी संघ ने अजमेर जिला प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

अजमेर। अजमेर में राजस्थान प्रदेश आशा सहयोगिनी संघ ने अपनी विभिन्न मांगों के संबंध में जिला प्रशासन को आज विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी के नाम का ज्ञापन सौंपा।

संघ ने जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर जिला प्रशासन को डा जोशी के नाम अपनी पांच सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा। संघ ने प्रदेश की सभी आशा सहयोगिनी महिलाओं को राज्य कर्मचारी का दर्जा दिए जाने की मांग की तथा उसके अनुसार ही वेतन दिए जाने की मांग की। साथ ही केंद्र एवं राज्य सरकार से जुड़े अलग अलग विभागों में उनकी सेवाओं के उपयोग पर एतराज उठाते हुए उन्हें एक ही विभाग से जोड़े रखने की मांग की।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में लॉकडाउन के साथ अनलॉक कार्यकाल में भी आशा सहयोगिनें कंधे से कंधा मिलाकर सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार सर्वे से लेकर अन्य सूचनाओं को घर घर जाकर एकत्रित करने का काम कर रही है। इसके बावजूद सरकार छोटी सी राशि का भुगतान कर उनका गला काट रही है।

कुंदन नगर से आई आशा सहयोगिनी राधा ने कहा कि सरकार ने यदि हमारी जायज मागों को नहीं माना तो प्रदेशभर की आशा सहयोगिनें गुर्जर आंदोलन की तरह आंदोलन के लिए तैयार है, क्योंकि आज से पहले वे जयपुर में चिकित्सा मंत्री डॉ. रघुशर्मा से भी मिलकर अपनी मांग रख चुकी है लेकिन उस पर कोई निर्णय नहीं हुआ है।

इनका कहना है कि हमें राज्य कर्मचारी के दर्जे के साथ पूरा वेतन देना चाहिए। अजमेर जिले में करीब 1600 से ज्यादा आशा सहयोगिनें कार्यरत है।