नई जिम्मेदारी पूरी निष्ठा से निभाउंगा, राजस्थान से जुडा रहूंगा : अशोक गहलोत

Ashok Gehlot indicates he will remain active in Rajasthan politics
Ashok Gehlot indicates he will remain active in Rajasthan politics

जोधपुर। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के नवनियुक्त संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि वह अपनी नई जिम्मेदारी को पूरी निष्ठा के साथ निभाएंगे और राजस्थान से कभी दूर नहीं रहेंगे।

गहलोत ने नई जिम्मेदारी मिलने के बाद शनिवार को जोधपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने कार्यों से न केवल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बल्कि भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह की बोलती बंद कर दी है। उन्होंने दावे के साथ कहा कि कांग्रेस को राष्ट्रीय अध्यक्ष की सोच का लाभ जरूर मिलेगा।

नई जिम्मेदारी के संबंध में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि वह पार्टी में कई पदों पर रहे है और पहले भी वह अपनी जिम्मेदारी को पूरी निष्ठा के साथ निभा चुके है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में नई पीढ़ी और कांग्रेस के बीच कुछ गैप हो गया है उसको जल्द दूर किया जाएगा और युवा पीढ़ी को गांधी, नेहरू व पटेल के बारे में जानकारी देकर उन्हें पार्टी से जोडा जाएगा।

गहलोत ने राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट को ‘फ्री हैंड’ देने के कयास पर कहा कि सब मिलकर चुनाव लड़ेंगे और वह राजस्थान से कभी दूर नहीं रहेंगे।

उन्होंने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर निशाना साधते हुए कहा कि वह (आरएसएस) पर्दे के पीछे रहकर राजनीति करता है और उसे सीधे तरह से राजनीति करने की हिम्मत नहीं है। उन्होंने चुनौती दी कि आरएसएस को अगर राजनीति करनी ही है तो खुद चुनाव लड़ें। उन्होंने कहा कि जनता तय कर देगी की किसकी विचारधारा सही है।