अशोक गहलोत और सचिन पायलट में सियासी सुलह

जयपुर। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल की मौजूदगी में एक मंच पर आकर राजस्थान में हम सब एक है का बयान देने से दोनों नेताओं के बीच सियासी सुलह नजर आई।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान चरण को लेकर यहां कांग्रेस वॉर रूम में हुई समन्वय समिति की बैठक के बाद वेणुगोपाल ने मीडिया के सामने गहलोत एवं पायलट तथा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के हाथ उठाकर कहा कि यह राजस्थान कांग्रेस हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि राहुल गांधी ने कल दोनों नेताओं को एसेट कहा है तो गहलोत और सचिन पायलट एसेट हैं। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी की खूबी है कि हमारी पार्टी में कोई नंबर वन, टू एवं थर्ड नहीं हैं। जब राहुल गांधी ने यह कह दिया है और जब नेता का संदेश आता है तो सब मिलकर राजनीति एवं काम करते है। पार्टी के हित में क्या हो सकता है उसे आगे बढाते है।

उन्होंने कहा कि अगला वर्ष चुनाव का है और चुनौती भी है और चुनाव जीतना आवश्यक है और देश हित में होगा, कांग्रेस जीतती है और इससे वह मजबूत होगी तो देश का भविष्य बना रहेगा और मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने बलिदान दे दिया लेकिन देश को अखंड रखा और राजीव गांधी शहीद हो गए देश में शांति स्थापित करने के प्रयास में।

उन्होंने कहा कि पार्टी को सर्वोपरि बताते हुए कहा कि हम चाहते है कि जब श्री राहुल गांधी के साथ पार्टी का कारवां चल पड़ा है तो आगे बढ़े और कांग्रेस का वह पुराना रुतबा फिर कायम होगा। कांग्रेस और देश का डीएनए एक हैं। उन्होंने कहा कि देश में जो फासिस्ट ताकते है उनका लोकतंत्र में कोई यकीन नहीं हैं और इनको यात्रा के बाद बेनकाब किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि राहुल की यात्रा का संदेश देश, प्रदेश हर हर घर में जा रहा है, जो मुद्दा है आवाम के दिल में है, कमर तोड़ महंगाई, भयंकर बेरोजगारी, प्यार मोहब्बत एवं भाईचारा की राजनीति हो, हिंसा नहीं होनी चाहिए, इन मुद्दों के साथ राहुल गांधी यात्रा निकाल रहे हैं और इसमें लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है। इससे भाजपा के लोग विचलित और चिंतित हो गए हैं और यात्रा पर आरोप लगा रहे और मीडिया पर दबाव बना रहे हैं, देश में माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं।

गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी का कारवां चल पड़ा है और वह संदेश दे रहे हैं मीडिया, जनसभा आदि के माध्यम से, जिससे पूरे देश में आशा की किरण जगी है और उनकी दो हजार किलोमीटर यात्रा पूरी हो गई और आने वाले समय में शेष डेढ़ हजार किलोमीटर यात्रा भी पूरी हो जाएगी।

उन्होंने कहा कि देश में तनाव एवं हिंसा का माहौल है और पत्रकार, साहित्यकार जेलों में जा रहे है, आलोचना सहन नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने जो मुद्दा पकड़ा है वह पूरे देश ने स्वीकार किया है। अब प्रधानमंत्री मोदी एवं केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह गुजरात में घर घर जा रहे हैं कि इस प्रकार यह यात्रा क्यों हो रही है, घबराए हुए है और वहां भी माहौल बनाने की कोशिश कर रहे है लेकिन सफल नहीं हो रहे है। लोगों को भड़का रहे है लेकिन कोई उनकी बातों में नही आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश, प्रदेश सहित सब लोग समझ गए और गुजरात में चौंकाने वाले परिणाम आ सकते है।

उन्होंने बैठक से पहले भी मीडिया से कहा कि राजस्थान में हम सब एक हैं और राहुल गांधी ने जब कह दिया कि दोनो एसेट हैं तो एसेट हैं। इसके बाद कहने को कुछ रह नहीं जाता। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी की सबसे बड़ी खूबी यह रही है। आजादी के पहले और बाद कि जो कांग्रेस अध्यक्ष होता है उसके अनुशासन में पार्टी चलती हैं।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने कह दिया तो हम सब एसेट ही हैं। उनके मायने ये भी थे कि हम लोगों के साथ हर कार्यकर्ता एसेट हैं। अच्छी बात कही है। दोनों नेता एसेट हैं तो उनके फॉलोअर भी एसेट हैं। सब मिलकर यात्रा को भी कामयाब करेंगे और अगला चुनाव मुख्य मुद्दा है, वह हम जीतकर बताएंगे।

बैठक के बाद पायलट ने मीडिया से बातचीत में कहा कि राहुल गांधी की यात्रा शानदार और ऐतिहासिक यात्रा हैं जिससे भाजपा एवं विरोधी चिन्तित एवं व्यथित हैं। बैठक में विस्तार से चर्चा की गई है और राहुल गांधी की यात्रा का राजस्थान में प्रवेश झालावाड़ से होगा और उसका पूरे देश में सबसे ज्यादा उत्साह, उमंग और जोश के साथ स्वागत होगा। यात्रा प्रदेश में 15 दिन रहेगाी।

राहुल गांधी यह यात्रा देश में लोगों को जोड़ने के लिए कर रहे हैं और जिसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि देश में आज जरुरत है कि जिन लोगों के हाथ में कमान है उन्हें सचेत एवं जवाबदेही बनाने के लिए राहुल गांधी लगातार मुद्दे उठा रहे है और भाजपा के पास कोई जवाब नहीं है।

पायलट ने कहा कि यात्रा में हर वर्ग के लोग स्वत: ही जुड़ेंगे और लाखों के तादाद में जुड़ेंगे और एक संदेश जाएगा कि कांग्रेस के सब कार्यकर्ता मिलकर राहुल गांधी को आगे लेकर जाएंगे। वेणुगोपाल ने एक सवाल के जवाब में कहा कि उनकी एडवाजरी के बावजूद कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी के मामले में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष से रिपोर्ट मांगी हैं।