पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में 18 और 27 फरवरी को विधानसभा चुनाव

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने गुरुवार को त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड में फरवरी में विधानसभा चुनाव कराने की घोषणा की। चुनाव तिथि की घोषणा करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त एके जोति ने कहा कि त्रिपुरा में 18 फरवरी को मतदान होगा, जबकि नागालैंड और मेघालय में 27 फरवरी को मत डाले जाएंगे। इन राज्यों में केवल एक दिन ही मत डाले जाएंगे।

तीनों राज्यों की विधानसभा में 60-60 सीटें हैं। तीनों में मतों की गणना 3 मार्च को होगी। त्रिपुरा में मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी का शासन है। मेघालय में कांग्रेस सत्तारूढ़ पार्टी है और नागालैंड में नागालैंड पीपुल्स फ्रंट सत्ता में है। जोति ने तत्काल प्रभाव से इन राज्यों में आचार संहिता लागू होने का ऐलान किया है।

उन्होंने कहा कि तीनों राज्यों में इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन और वीवीपैट (वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल) का चुनाव प्रक्रिया में पारदर्शिता और विश्वसनियता बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जाएगा।

उम्मीदवारों की आसान पहचान के लिए इवीएम बेलैट यूनिट में उम्मीदवारों की फोटो उपलब्ध रहेगी। चुनाव सुचारु रूप से कराने के लिए जमीनी स्थिति को देखते हुए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और राज्य सशस्त्र पुलिस को अन्य राज्यों से यहां बुलाकर तैनात किया जाएगा।

चुनाव आयोग मुक्त और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए सभी स्तरों पर चुनावी प्रक्रिया पर पैनी नजर रखने के लिए पर्यवेक्षकों की तैनाती करेगा।

त्रिपुरा में नामांकन भरने की तिथि 24 जनवरी से शुरू होगी और 31 जनवरी तक नामांकन भरा जा सकेगा। नामांकन की जांच 1 फरवरी को की जाएगी और नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 3 फरवरी है।

मेघालय और नागालैंड में, नामांकन 31 जनवरी से सात जनवरी के बीच भरा जा सकेगा। नामांकन की जांच 8 फरवरी को होगी और इसे वापस लेने की अंतिम तिथि 12 फरवरी है।